नवादा : समाहरणालय स्थित कार्यालय कक्ष में रविवार को डीएम यश पाल मीणा ने कोविड-19 को लेकर गठित कोषांग के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर कार्य प्रगति की समीक्षा की। जिले में कोरोना संक्रमण की अप्रत्याशित वृद्धि को देखते हुए सभी पदाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना का चेन को तोड़ने के लिए भीड़-भाड़ इकट्ठा न होने दें। भीड़-भाड़ पर नियंत्रण के लिए आवश्यक कदम उठाएं। सब्जी मंडी को गांधी स्कूल समेत अन्य स्थानों पर शिफ्ट कराएं। सब्जी की खुदरा बिक्री ज्यादातर ठेला के माध्यम से हो। सार्वजनिक वाहनों में कोविड गाइड लाइन के अनुसार ही यात्रियों को बैठाने का निर्देश दिया गया। उन्होंने कहा कि सभी धार्मिक स्थलों पर कोविड गाइड लाइन का प्रचार-प्रसार करवाना सुनिश्चित करें। बताया गया कि सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग की ओर से माइकिग के जरिए लोगों को मास्क लगाने, सैनिटाइजर का उपयोग करने और शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। जिले में मास्क जांच अभियान तेजी से चल रहा है। मास्क का उपयोग नहीं करने वाले लोगों से जुर्माना वसूला जा रहा है। इसके लिए लगातार जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। बैठक में उप विकास आयुक्त वैभव चौधरी, अपर समाहर्ता उज्जवल कुमार सिंह, जिला स्थापना शाखा पदाधिकारी संतोष झा, अनुमंडल पदाधिकारी नवादा सदर उमेश कुमार भारती, जिला आपदा पदाधिकारी विश्वजीत कुमार, प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. अशोक कुमार, डीपीआरओ गुप्तेश्वर कुमार आदि उपस्थित थे।

----------------

जांच में वसूला जा रहा जुर्माना

- समीक्षा के क्रम में बताया गया कि मास्क और वाहन जांच को लेकर लगातार अभियान चलाया जा रहा है। जनवरी महीने में 603 स्थानों पर 9 हजार 149 वाहनों की जांच की गई। नियमों का पालन नहीं करने वालों से 14 लाख 2 हजार रुपये जुर्माना वसूला गया। वहीं 930 व्यक्तियों से मास्क नहीं पहनने पर 46 हजार 500 रूपये का फाइन वसूला गया। फरवरी में 579 स्थानों पर 8 हजार 402 वाहनों की जांच की गई, जिससे 11 लाख 25 हजार रुपये जुर्माना वसूला गया। मास्क नहीं पहनने वाले 599 व्यक्तियों से 29 हजार 950 रूपये जुर्माना किया गया। मार्च में 632 स्थानों पर 9 हजार 663 वाहनों की जांच में 9 लाख 70 हजार रुपये जुर्माना वसूला गया। जबकि 641 व्यक्तियों से मास्क नहीं पहनने पर 32 हजार 50 रूपये जुर्माना लिया गया। अप्रैल में अबतक 376 स्थानों पर 6 हजार 114 वाहनों की जांच में 5 लाख 66 हजार रुपये जुर्माना लिया गया। वहीं मास्क नहीं पहनने पर 1358 व्यक्तियों से 67 हजार 900 रुपये का फाइन वसूला गया। इस तरह जनवरी से 17 अप्रैल तक 33 हजार 328 वाहनों की जांच की गई और 40 लाख 63 हजार रुपये दंडात्मक राशि वसूली गई। जबकि 3 हजार 528 व्यक्तियों से मास्क नहीं पहनने पर 1 लाख 76 हजार 400 रूपये का फाईन वसूला गया।

Edited By: Jagran