नवादा। नगर के मेन रोड निवासी व पटना उच्च न्यायालय के अधिवक्ता गोपाल बोहरा बिहार क्रिकेट संघ के नए अध्यक्ष चुने गए हैं। लोढ़ा समिति के निर्देश के बाद श्रीबोहरा अध्यक्ष बने हैं। बीसीए का अध्यक्ष चुने जाने के बाद क्रिकेट जगत में खुशी की लहर दौड़ गई है। पत्रकारों से बातचीत के क्रम में नवनिर्वाचित अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में क्रिकेट को पहचान दिलाना प्राथमिकता होगी। उन्होंने कहा कि अब तक सूबे के क्रिकेटर पर्याप्त व्यवस्था के अभाव में दूसरे राज्यों की ओर रुख कर रहे थे। नवादा का ही इशान किशन झारखंड से खेल रहा है। अभी वह इंडिया ए टीम में शामिल है, यह हमारे लिए गर्व का विषय है। उन्होंने कहा कि अब सूबे के खिलाड़ी बिहार से प्रतिनिधित्व करें और राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय टीम में शामिल होकर बिहार का नाम रौशन करे, यही लक्ष्य है। बिहार की क्रिकेट प्रतिभा को निखारने के लिए को¨चग की व्यवस्था की जाएगी। सभी जिलों में मूलभूत संरचना का विकास किया जाएगा।

बता दें कि श्रीबोहरा 2015 में बीसीए के प्रदेश उपाध्यक्ष चुने गए थे। पिछले तीस सालों तक जिला क्रिकेट संघ के सचिव रहे। 1960-61 में क्रिकेट से जुड़े। 1973 में जिला क्रिकेट टीम के सदस्य रहे। इसके बाद 1976 में धनबाद में आयोजित अंतरजिला हेमंत ट्रॉफी में जिला क्रिकेट टीम की कप्तानी की। 1979-80 में जिला क्रिकेट टीम के सचिव बने और तीस सालों तक इस पद पर रहे। इसके अलावा श्रीबोहरा बिहार विभाजन से पूर्व अंडर 16 क्रिकेट टीम के चयनकर्ता रहे। फिर बीसीए के संयुक्त सचिव, प्रदेश उपाध्यक्ष जैसे महत्वपूर्ण पदों पर रहे।

------------------------

एक परिचय

नाम : गोपाल बोहरा

जन्मतिथि : 9 सितंबर 1953

प्रारंभिक शिक्षा : प्राथमिक विद्यालय, नवादा

उच्च शिक्षा : बी. कॉम, पटना कॉलेज, पटना।

: एलएलबी, मगध विश्वविद्यालय, बोधगया।

पेशा : अधिवक्ता, पटना उच्च न्यायालय।

क्रिकेट जीवन : 1960-62 में क्रिकेट से जुड़े। तीस वर्षों तक जिला क्रिकेट संघ के सचिव रहे। बीसीए के संयुक्त सचिव, प्रदेश उपाध्यक्ष जैसे महत्वपूर्ण पदों पर भी रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस