नवादा। 22 मार्च को बिहार स्थापना दिवस पर हरिश्चंद्र स्टेडियम में आयोजित होने वाले कार्यक्रम की प्रशासनिक तैयारियां जोरों पर है। सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने वाले कलाकारों के चयन के लिए मंगलवार को नगर भवन में ऑडिशन हुआ। जिसमें जिले के कलाकारों ने भाग लेकर मनमोहक प्रस्तुति दी। कई कलाकारों ने विभिन्न विधाओं में अपने कार्यक्रम की प्रस्तुति के माध्यम से प्रतिभा दिखाई। 14 मार्च को भी ऑडिशन होगा, जिसमें अंतिम रूप से सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए कलाकारों का चयन कर लिया जाएगा। ब्रह्मांड युवा आदर्श क्लब नेमदारगंज द्वारा दहेज प्रथा पर झरनी गीत एवं कव्वाली का प्रदर्शन किया गया। वहीं उत्क्रमित उर्दू कन्या मध्य विद्यालय अंसार नगर की छात्रा कायनात नाद्रा ने बिहार गीत गाकर निर्णायक मंडल का ध्यान आकृष्ट किया। छात्रा ने दर्शकों को ताली बजाने के लिए मजबूर कर दिया। कलाकार गुड्डू कुमार, इंद्रजीत कुमार, रामाधार आदि ने भी अपनी गायन के माध्यम से ध्यान खींचा। सृष्टि संस्था के कलाकारों ने समूह लोक गीत की शानदार प्रस्तुति दी, जिसमें बिहार के कई पारंपरिक नृत्यों का समावेश था। शकुन्तला मेमोरियल के कलाकारों ने हमारा प्यारा राज्य बिहार की सुन्दर प्रस्तुति दी। सुगम संगीत में प्रांजल ने प्रसिद्ध बिहार गीत यह है मेरा बिहार गाकर बिहार दिवस का माहौल तैयार कर दिया। मो. दानिश खान, मो. शब्बीर, राहुल रंजन, अमृत नयन, आरूषी कुमारी आदि ने भी ऑडिशन में भाग लेकर अपनी प्रस्तुति दी। गौरतलब है कि 22 मार्च को बिहार दिवस मुख्य समारोह का उद्घाटन शाम 5 बजे हरिश्चंद्र स्टेडियम में होगा। संध्या 6:30 बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रम दो भागों में आयोजित होगा। प्रथम भाग में ऑडिशन में चयनित कलाकारों द्वारा प्रस्तुति दी जाएगी, वहीं द्वितीय भाग में जिले के प्रतिष्ठित कलाकारों को मौका दिया जाएगा। चयनकर्ता के रुप में डीपीआरओ परिमल कुमार, डीसीएलआर वीरेन्द्र कुमार, श्रवण वर्णवाल, अफसर नवाब, शिवकुमार प्रसाद आदि उपस्थित थे। ऑडिशन को लेकर कलाकारों में काफी उत्साह दिखा। सभी कलाकारों ने अपनी मनमोहक प्रस्तुति के जरिए चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी ओर आकृष्ट किया, ताकि हरिश्चंद्र स्टेडियम में आयोजित होने वाले समारोह में मौका मिल सके।

Posted By: Jagran