थाना क्षेत्र के मुरहेना व फरकाबुजुर्ग पंचायतों की ईंट भट्ठों संचालकों से प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन भाकपा माओवादी द्वारा लेवी की मांग की गई है। शुक्रवार की रात थाना क्षेत्र के विभिन्न ईंट-भट्ठों पर जाकर हथियारबंद माओवादियों ने वहां के मुंशी को पर्चा देकर लेवी की मांग की है। लेवी की मांग से व्यवसायियों में दहशत कायम हो गया है। मोहकामा स्थित नंद भट्ठा ,राम अवतार यादव एवं सुनील यादव का ईंट भट्ठा, हाथोचक स्थित काशी ईंट भट्ठा, मुरहेना के मेहता ईंट-भट्ठा आदि पर लेवी की मांग का पर्चा दिए जाने की बात सामने आ रही है। हालांकि अधिकांश भट्ठा संचालक इस मामले में कुछ बोलकर जोखिम लेना नहीं चाह रहे हैं। वैसे बात पुलिस तक पहुंचने के बाद मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

मेहता भट्ठा के संचालक सुरेश मेहता ने बताया कि शुक्रवार की रात लगभग 10:30 बजे काले कपड़े में दो हथियारबंद जो कि चेहरे पर नकाब लगा रखे थे पहुंचे। उन लोगों ने मजदूरों से पूछा कि मुंशी कहां हैं। मजदूरों के बताए स्थान पर दोनों नकाबपोश पहुंचे और मुंशी को जगाया और बोला कि हम लोग लेबी के लिए आए हैं। 7 अप्रैल तक हर हाल में राशि का भुगतान करना है। अगर लेवी नहीं दी गई तो तुम समझो और तुम्हारा मालिक समझेगा। लेवी की मांग व धमकी देने के बाद दोनों चले गए। शनिवार की सुबह पुलिस को सूचना दी गई। सूचना के बाद एसटीएफ के साथ थानाध्यक्ष सुजय विद्यार्थी ईंटभट्ठा पर पहुंचे और मामले की जांच की।

--------------

कहते हैं अधिकारी

पर्चा फेंके जाने की जानकारी मिली है। पर्चा को जब्त कर जांच-पड़ताल की जा रही है। क्षेत्र में नक्सलियों की टोह में कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया जा रहा है। नक्सलियों के मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। इस कार्य में लगे लोगों की पहचान कर प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

कुमार आलोक, एएसपी अभियान।

------------------------- क्या लिखा है पर्चा में

- भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) मगध जोनल कमिटी की ओर से सभी भट्ठेदारों को सूचित किया जाता है कि पार्टी का कामकाज जिस इलाके में सुचारू रूप से चलता है, वहां पर पार्टी लेवी व टैक्स के रूप में योजना के अनुसार राशि लेती है। इसलिए सभी ईट भट्ठों से प्रति वर्ष का प्रोडक्शन के हिसाब से लेवी लेती है। साधारण प्रोडक्शन में 50 हजार प्रतिवर्ष तथा जिनका उच्च स्तर के ईंट का प्रोडक्शन होता है उनसे एक लाख रुपये तक पार्टी लेवी के रूप में लेती है। अत: समय सीमा के अंदर लेवी दें, नहीं देने पर भट्ठा मालिक को नुकसान के लिए तैयार रहना होगा। माओवादियों के पर्चे में निर्धारित की गई तिथि एक अप्रैल 2020 तथा अंतिम लेवी देने की तिथि सात अप्रैल 2020 अंकित किया गया है। ----------------

लेवी मांगने का सिलसिला जारी

- इसी तरह का पर्चा गत वर्ष 21 दिसंबर को माओवादियों के द्वारा धमनी नदी व मुरहेना स्थित नदी पर बन रहे पुल निर्माण कंपनियों को देकर लेवी की मांग की गई थी। योजना का 10 फीसद लेवी मांगी गई थी। हालांकि उस वक्त धमनी नदी पर पुल निर्माण करा रही कंपनी कुमार कंस्ट्रक्शन के संचालक विजय सिंह के द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। जिसके बाद पुलिस अभिरक्षा में कार्य को पूर्ण कराया गया था। फिलहाल, माओवादियों की सक्रियता एवं लेवी की मांग से ईंट भट्ठा संचालकों की परेशानी बढ़ गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस