नालंदा [जेएनएन ]। नालंदा जिले की पुलिस ने एक एेसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो अॉनलाइन खरीदारी करने वालों के बारे में जानकारी इकट्ठा कर उन्हें लकी ड्रा का लालच देता था और उनसे मोटी रकम ठग लेता था। सैकड़ों लोगों को यह गिरोह ठगी का शिकार बना चुका था। पुलिस ने गिरोह के दस लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से भारी मात्रा में फर्जी कागजात व अन्य सामान बरामद हुए हैं।

यह गिरफ्तारी मानपुर थाना क्षेत्र में छातो गांव के बगीचे से हुई है। पूरा गिरोह यहीं से अपने नेटवर्क का संचालन करता था। सदर डीएसपी सैफू रहमान ने बताया कि मानपुर पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी जिसपर कार्रवाई की गई। दो लोगों रौशन कुमार और प्रवीण कुमार की पहचान गिरोह के सरगना के रूप में हुई है। उनके अतिरिक्त आठ और लोग पकड़े गए।

डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार लोग इंटरनेट के जरिए अॉनलाइन शॉपिंग करने वालों का नाम पता तथा मोबाइल नम्बर ज्ञात कर उन्हें लक्की ड्रा का प्रलोभन दिया जाता था। इन लोगों को लक्की ड्रा में मिलने वाले सामान के एवज में दी जाने वाली राशि बैंक खातों में डाल दिये जाने को कहा जाता था। इस प्रकार लक्की ड्रा के चक्कर में फसे लोग ठगी के शिकार हो जाते थे।

गिरफ्तार ठगों के पास से 20 मोबाइल, 250 खरीदारों के डिटेल की प्रिंटे़ड कॉपी, बैंक खाता नम्बर का रजिस्टर तीन, एसबीआई और पीएनबी सहित कई बैंकों के पासबुक, आधार कार्ड की छाया प्रति कई ब्लैंक चेक ॉएवं गंगा आटो मोबाइल टीभीएस का बिल एक बरामद किया गया। पुलिस का कहना है कि ठगी करने वालों के तार यूपी, मध्यप्रदेश और राजस्थान सहित कई राज्यों से जुड़े हैं।

Posted By: Pramod Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस