Move to Jagran APP

NEET Paper Leak: नीट पेपर लीक का मास्टर माइंड रॉकी गिरफ्तार, CBI ने झारखंड से धर दबोचा; क्या अब खुलेगा राज?

Nalanda News नीट पेपर लीक मामले में सीबीआई का ताबड़तोड़ एक्शन जारी है। सीबीआई ने झारखंड से मास्टर माइंड रॉकी को गिरफ्तार किया है। रॉकी को पटना में सीबीआई की अदालत के सामने पेश किया गया। फिर उसे 10 दिनों के लिए सीबीआई की हिरासत में भेज दिया गया है। रॉकी की गिरफ्तारी से कई गुप्त राज पर से पर्दा हट सकता है।

By Sanjeev Kumar Edited By: Sanjeev Kumar Thu, 11 Jul 2024 07:10 PM (IST)
नीट पेपर लीक मामले में सीबीआई का शिकंजा (जागरण सांकेतिक फोटो)

जागरण संवाददाता, पटना। Neet Paper Leak:  नीट यूजी पेपर लीक मामले में सीबीआइ को बड़ी सफलता हाथ लगी है। केंद्रीय जांच एजेंसी ने पेपर लीक कांड के मुख्य आरोपी राकेश कुमार उर्फ रॉकी को गिरफ्तार कर लिया है।

रॉकी के बारे में पुख्ता जानकारी मिलने के बाद सीबीआइ की टीम कई दिनों से झारखंड में डेरा डाले हुए थी। बुधवार की देर रात रॉकी सीबीआइ के बिछाए जाल में फंस गया।

जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। रॉकी को गिरफ्तार करने के बाद गुरुवार को जांच टीम ने उसे सीबीआइ की विशेष कोर्ट में पेश किया और कोर्ट से रॉकी की 10 दिनों की रिमांड मांगी। जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है।

कौन है मास्टरमाइंड रॉकी? संजीव मुखिया के साथ मिलकर करता था सेटिंग

रॉकी की नीट यूजी पेपर लीक मामले में अहम भूमिका थी। उसके बारे में पुख्ता जानकारी प्राप्त करने के बाद जांच टीम उसकी गिरफ्तारी के लिए लगातार प्रयासरत थी। जानकारी के अनुसार इस मामले में संजीव मुखिया और रॉकी अभ्यर्थियों से पैसे लेकर उनकी सेटिंग कराते थे। रॉकी ने ही नीट पेपर का पीडीएफ फॉर्मेट चिंटू के मोबाइल पर भेजा था।

चिंटू को मिले इसी सॉल्व पेपर को खेमनीचक स्थित लर्न एंड प्ले स्कूल के हास्टल में ठहरे 35 अभ्यर्थियों को तीन और चार मई की देर रात तक रटवाया गया था। पेपर लीक का उद्भेदन होने के बाद से जांच एजेंसी उसकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही थी। दूसरी ओर रॉकी तक पहुंचने के लिए जांच टीम रॉकी के करीबी मुकेश, चिंटू, मनीष प्रकाश और आशुतोष को रिमांड पर लेकर लगातार पूछताछ कर रही थी।

इस पूछताछ में जांच टीम को कई अहम जानकारियां मिलीं। जिसके बाद रॉकी को शिकंजे में लेने के लिए सीबीआइ ने बीते 17 दिनों में बिहार-झारखंड में करीब दर्जन भर ठिकानों को खंगाला। पिछले सप्ताह रॉकी की तलाश में उसके बिहारशरीफ के गजेंद्र बिगहा गांव स्थित घर भी पहुंची थी। आखिरकार गिरफ्त में आए रॉकी से पूछताछ के दौरान सीबीआइ को कई और लोगों के नाम खुलने की उम्मीद है।

इससे पहले झारखंड में स्कूल के प्रिंसिपल और वाइस प्रिंसिपल को किया था गिरफ्तार

एजेंसी ने पहले इस मामले में झारखंड के हजारीबाग स्थित ओएसिस स्कूल के प्रिंसिपल, वाइस प्रिंसिपल समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया था। जिन्होंने कथित तौर पर NEET उम्मीदवारों को रहने का ठिकाना दिया था। जहां बिहार पुलिस ने जले हुए प्रश्नपत्र बरामद किए थे।

ये भी पढ़ें

Upendra Kushwaha: विधानसभा चुनाव से पहले उपेंद्र कुशवाहा का फाइनल एलान, इस बात की दे दी हरी झंडी

Bihar Politics: कार्यालय छिनते ही पशुपति पारस ने उठाया बड़ा कदम, अब क्या करेंगे चिराग पासवान? सियासत तेज