बिहारशरीफ। दवा दुकानों में हुई लूट के विरोध में दूसरे दिन शुक्रवार को भी हरनौत बाजार बंद रहा। कपड़ा, दवा, एवं किराना व्यवसायिक संघ के संयुक्त आह्वान पर सभी दुकानें बंद रखी गई। व्यवसायी लुटेरों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं। बाजार बंद रहने के कारण गलियां सुनी रहीं। न तो सड़कों पर भीड़ दिखी और न ही जाम लगे। जो कुछ ग्राहक आए, वे तुरंत लौट गए।

दूसरे दिन भी व्यवसायिक संघ की बैठक स्टेशन रोड स्थित एक उत्सव हाल में हुई। दुकानदारों ने मांग दोहराई कि एसपी खुद यहां आकर हालात को समझें। लेकिन एसपी नहीं आये। बैठक में थानाध्यक्ष देवानन्द शर्मा पहुंचे। उन्होंने दुकानदारों को सुरक्षा का भरोसा दिलाया। कहा, दुकानें खोलिए। बाजार की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

व्यवसायियों ने कहा कि आपराधिक घटनाओं में वृद्धि हुई है। बदमाश पकड़े नहीं जा रहे हैं। इस कारण बाजार में डर का माहौल है। कब किस दुकान में लूट हो जाए, कहना मुश्किल है। बदमाश कट्टा लेकर बाजार में घूमता रहता है। पुलिस का इकबाल घटा है। शुक्रवार को भी डीएसपी डॉ मो शिबली नोमानी हरनौत पहुंचे। कहा कि वे बदमाशों की पहचान करने को लेकर पटना पुलिस से भी लगातार से संपर्क में हैं। उन्होंने दुकानदारों को आश्वस्त किया कि बदमाश पकड़े जाएंगे। इसके बाद दुकानदारों ने आज शनिवार को दुकानें खोलने का निर्णय लिया। सामाजिक कार्यकर्ता चन्द्र उदय कुमार ने कहा बदमाश पकड़े जाएंगे तो हरनौत में एसपी एवं डीएसपी को समारोह पूर्वक सम्मानित किया जाएगा।

-----------------------------

पुराने अधिकारी व निजी चालक को हटाने की मांग

-------------------------------

दुकानदारों ने एसपी से मांग की है कि लूट एवं डकैती की घटनाओं का पर्दाफाश हो। थाने में कई वर्षों से जमे पुराने पदाधिकारी को यहां से हटाया जाए। कहा कि थाना के वाहन के निजी चालक की भूमिका भी संदिग्ध है। इसलिए निजी चालकों को भी हटाया जाए।

शराब की तस्करी पर रोक लगायी जाए। मांग की गई कि थाने में लगे सीसीटीवी के फुटेज की भी जांच होनी चाहिए। व्यवसायियों से पुलिस अधिकारियों का सीधा संवाद हो।

Edited By: Jagran