सीतामढ़ी (रीगा) जासं। रीगा में शनिवार को दिनदहाड़े एक 18 वर्षीय युवक की बेरहमी से चाकू गोदकर हत्या कर दी गई। युवक की शिनाख्त रीगा स्टेशन टोला निवासी अजय भारती के पुत्र अनमोल कुमार के रूप में हुई। अनमोल की हत्या उस वक्त हुई जब वह अपने चचेरे भाई प्रियांशु कुमार (पिता संजय पासवान) के साथ रीगा-कुशमारी रोड में निकला हुआ था। बताया जाता है कि कुछ युवकों ने उसे पार्टी देने के लिए कुशमारी रोड में बुलाया था। मगर, खाने-पीने की यह पार्टी मौत में तब्दील हो गई। उसके भाई प्रियांशु ने टेंपो पर लादकर अस्पताल पहुंचाया।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आते-आते चिकित्सक डा. उदय भानु सिंह ने अनमोल को मृत घोषित कर दिया। मौत की सूचना मिलते ही स्वजनों में चीख-पुकार मच गई। बड़ी संख्या में अनमोल के रिश्तेदार एवं गांव वालों अस्पताल पहुंच गए। गम और गुस्से में हंगामा किया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस पदाधिकारी रीगा पहुंच गए। छानबीन होने लगी। इस बीच रीगा के बखरी गांव के तीन युवकों को हिरासत में ले लिया गया। मृतक अनमोल की मां ललिता देवी व दादी दोनों बदहवाश हैं। अनमोल दो भाईयों में छोटा था। बड़ा भाई गोलू उर्फ रोहित, बहन चंचला व पूजा कुमारी पढ़ रही हैं। थानीय लोग बताते हैं कि मामूली विवाद को लेकर एक माह पूर्व दो पक्षों में मारपीट हुई थी। उसी रंजिश में आरोपियों ने बदला लिया।

तीन आरोपितों पर नामजद प्राथमिकी

आक्रोशित गांव वालाें के हंगामे के बाद पुलिस पदाधिकारियों ने काफी मान-मन्नौवल किया। लोगों का कहना था कि अपराधियों में पुलिस का कोई डर नहीं रह गया है। दिनदहाड़े हत्या कर फरार हो जा रहे हैं। हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर लोग अड़ गए। तकरीबन दो घंटे तक हुए अफरा-तफरी के बीच एसडीपीओ रमाकांत उपाध्याय भी पहुंच गए। शव को पोस्टमार्टम के लिए सीतामढ़ी सदर अस्पताल भिजवाया। चचेरे भाई प्रियांशु कुमार ने पुलिस को बताया कि बभंगामा पंचायत के बखरी गांव निवासी विकास कुमार यादव, राजा ठाकुर, दीपक यादव ने उसके भाई की बेरहमी से हत्या कर दी। थानाध्यक्ष संजय कुमार के अनुसार, मृतक के पिता अजय भारती ने उन तीनों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है।