मुजफ्फरपुर : सुबह से रुक-रुक कर हो रही बारिश ने नगर निगम के नाला सफाई की हकीकत सामने ला दी है। जगह-जगह जलजमाव में लोग गिरते नजर आए। मोतीझील से स्टेशन तक लोगों को जलजमाव की समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है। दूसरी ओर अधूरे निर्माण के कारण चर्च रोड, पानी टंकी चौक, मिठनपुरा रोड, बेला, नारायणपुर अनंत रोड में बारिश के बाद स्थिति और बदतर हो गई है। जुब्बा सहनी पार्क इलाके में बैंक में काम के लिए जाने वाले लोग सड़क पर गिरते नजर आए। उसी तरह से चैपमैन स्कूल के सामने व पानी टंकी के सामने वाले इलाके में भी लोग परेशान रहे। बाइक सवार किसी तरह से जान जोखिम में डालकर निकलते रहे। बेला औद्योगिक क्षेत्र के अधिकांश रास्ते बंद बेला औद्योगिक क्षेत्र की करीब दो दर्जन फैक्ट्रियों में पानी घुस गया। फैक्ट्रियों में पानी घुसने के बाद आनन-फानन में कर्मियों ने कच्चे माल व मशीनों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। एक दिन और बारिश हुई तो औद्योगिक क्षेत्र टापू में तब्दील हो जाएगा। फैक्ट्रियों में उत्पादन ठप हो सकता है। अभी जलजमाव से औद्योगिक क्षेत्र के अधिकांश रास्ते बंद हो गए हैं। जिला उद्योग केंद्र परिसर के आगे पानी लग गया है। बियाडा कार्यालय व जिला उद्योग केंद्र के चारों ओर पानी जमा होने से कई लोग बिना काम कराए वापस लौट गए। उत्तर बिहार उद्यमी संघ के निवर्तमान महामंत्री विक्रम कुमार विक्की ने कहा कि औद्योगिक क्षेत्र के दोनों फेज में जलजमाव से स्थिति बिगड़ती जा रही है। फेज एक में सड़कों पर तीन फीट तक पानी जमा हो चुका है। इस कारण आवागमन ठप हो गया है। बरसात से पहले नाला निर्माण व उड़ाही जारी है, लेकिन जलजमाव से मुक्ति नहीं दिख रही है। उद्यमी अवनीश किशोर और उत्तर बिहार उद्यमी संघ के संगठन मंत्री शशांक श्रीवास्तव ने कहा कि कई जगहों पर सड़क व नाले क्षतिग्रस्त हैं। इस कारण बाइक सवार दुर्घटनाग्रस्त हो रहे। जलनिकासी की ठोस कार्य योजना नहीं होने से स्थिति दयनीय होती जा रही है। इधर,बियाडा के विकास अधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र से तेजी से पानी निकल रहा है। पानी के निकासी के लिए बियाडा प्रशासन लगातार काम कर रहा है।

Edited By: Jagran