मुजफ्फरपुर। बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की आगामी स्नातक व स्नातकोत्तर परीक्षा कराने की कवायद तेज हो गई है। रविवार को परीक्षा विभाग से प्राप्त गोपनीय सामग्री के आधार पर आगामी परीक्षा कराने को लेकर विवि ने कार्ययोजना बनाई है।

ये है मामला

विगत तीन दिनों से लंबित परीक्षाओं को लेकर विश्वविद्यालय में छात्र आंदोलन चला रहे थे। कुलपति व कुलसचिव ने इसे गंभीरता से लिया है। शनिवार की देर शाम परीक्षा विभाग में जाकर परीक्षा संबंधी तैयारियों की कुलपति ने समीक्षा की थी। इस दौरान कुलसचिव ने परीक्षा संबंधी गोपनीय सामग्री की सूची बनाई। उसे अपने कब्जे में ले लिया।

ये थी सामग्री

-पीजी व वोकेशनल कोर्स के सेट पेपर।

-कुछ परीक्षाओं की जांची कॉपियों के टीआर।

-जिन परीक्षाओं के पेपर सेट होने हैं, उनसे संबंधित संचिका।

ये बनी रणनीति

-सबसे पहले चतुर्थ पीजी सेमेस्टर, फ‌र्स्ट व सेकेंड सेमेस्टर, वोकेशनल कोर्स में बीबीए व बीसीए आदि की परीक्षा कार्यक्रम जारी होगा। इसकी वजह ये है कि इन कक्षाओं से संबंधित छात्र-छात्राओं की संख्या कम है। लिहाजा परीक्षा कराने में अधिक कठिनाई नहीं होगी।

-जिन परीक्षाओं के उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन हो चुका है, उनका रिजल्ट जारी कर दिया जाए।

-स्नातक प्रथम व द्वितीय वर्ष की परीक्षा के लिए ऑनलाइन टेंडर कराया जाए। बीआरए बिहार विवि के कुलसचिव डॉ. विवेकानंद शुक्ला ने बताया कि परीक्षा कराने के लिए कार्ययोजना बनाई गई है। ताकि अपने वादे के मुताबिक परीक्षा कराई जा सके। इसीलिए परीक्षा विभाग से गोपनीय सामग्री लेकर शीघ्र परीक्षा कराने की रणनीति बनाई है। इस सप्ताह रणनीति का असर दिखाई देगा। सारा काम वीसी व परीक्षा नियंत्रक की मौजूदगी में हुआ था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप