सीतामढ़ी। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में लखनऊ-अयोध्या हाइवे पर हुए बस हादसे में मरने वालों में पांच रुन्नीसैदपुर के रहने वाले हैं तथा आधा दर्जन लोग जख्मी भी हुए हैं। मृतकों में चार एक ही गांव खोंपा के कोठियां टोला के रहने वाले थे जबकि पांचवां महिसार पंचायत के गुलरिया टोला का रहने वाला था। सभी जख्मी भी खोंपा गांव के कोठिया टोला के ही रहने वाले हैं। इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हादसे पर गहरा दुख जताते हुए मृत लोगों के स्वजनों को दो-दो लाख रुपये मदद का एलान किया है। साथ ही कहा है कि घायलों के समुचित इलाज एवं उनको यूपी से बिहार लाने के लिए सरकार के स्तर पर प्रयास किया जा रहा है। दुर्घटनास्थल पर बिहार सरकार के अधिकारियों को रवाना करने की मुख्यमंत्री ने बात कही है।

बताया जाता है कि लखनऊ-अयोध्या हाइवे पर रामस्नेही थाना क्षेत्र अंतर्गत कल्याणी नदी के समीप यह हादसा हुआ। कोई ट्रक सड़क किनारे खड़ी इन लोगों की खराब बस में आकर जोरदार टक्कर मार बैठा। जिससे बस में सवार करीब डेढ़ दर्जन लोगों

की मौत हो गई। मरने वालों में रुन्नीसैदपुर के पांच मजदूर भी शामिल हैं। इनके अलावा इस हादसे में गंभीर रूप से जख्मी आधा दर्जन लोग भी यहीं के हैं जिन्हें इलाज के लिए

बाराबंकी जिला अस्पताल से ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक, ये सभी मजदूर अपने गांव से करीब एक माह पूर्व धान की रोपनी करने हरियाणा गए थे। धान रोपनी की समाप्ति के बाद सोमवार को बस पर सवार होकर हरियाणा से बिहार के लिए चले थे। इस हादसे की खबर से इलाका स्तब्ध है। स्वजनों के बीच कोहराम मचा है। मृतकों के साथ साथ घायलों की खोज-खबर लेने के लिए बुधवार तड़के गांव से प्रमोद सहनी, महेश कुमार, अजय कुमार, प्रमुख कुमार व पप्पू कुमार समेत पांच लोग बाराबंकी के लिए रवाना हो चुके हैं। लखनऊ-अयोध्या राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुए हादसे के मृतकों व घायलों के नाम व पता

रुन्नीसैदपुर थाना क्षेत्र के खोंपा गांव के कोठियां टोला निवासी स्व. बद्री महतो के पुत्र इंदल महतो (30), रूदल सहनी के पुत्र मोनू सहनी (32), लक्ष्मी सहनी के पुत्र जगदीश सहनी (45), सीताराम सहनी के पुत्र नरेश सहनी (32 वर्ष) तथा महिसार पंचायत के गुलरिया टोला निवासी खखन सहनी के पुत्र जयबहादुर सहनी शामिल हैं। इनके अलावा करीब आधा दर्जन घायल भी हुए हैं। जिनमें खोंपा गांव के कोठियां टोला निवासी जहुरन सहनी के पुत्र भोला सहनी का एक पैर कट गया है। अन्य रूदल सहनी के पुत्र फगुनी सहनी (40), जगदीश सहनी के पुत्र संतोष कुमार (22), महेंद्र सहनी के दो पुत्र वीरेंद्र सहनी (35) व शंभू सहनी (30) तथा लक्ष्मी सहनी के पुत्र मुंदर सहनी शामिल हैं।

Edited By: Jagran