पूर्वी चंपारण, जासं। जिले के मधुबन थाना क्षेत्र के बहुआरा भान गांव में शनिवार की सुबह ससुराल वालों ने बहू और उसके दो बच्चों की गला दबा हत्या कर दी। पुलिस ने तीनों धर्मशीला देवी (35), काजल (6) हिमाशु (4) के शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय स्थित सदर अस्पताल भेजा है। घटना की सूचना पर पकड़ीदयाल डीएसपी सुनील कुमार सिंह, मधुबन इंस्पेक्टर मुकेश चंद्र कमर व थानाध्यक्ष राजेश कुमार मौके पर पहुंच चुके हैं।

पुलिस अधीक्षक नवीन चंद्र झा भी थोड़ी देर बाद यहां पहुंचेंगे। घटना के संबंध में मृतका के भाई मधुबन थाना क्षेत्र के भगवानपुर निवासी नागेंद्र कुमार ने पुलिस को बताया कि वे प्रतिदिन अपनी बहन व भांजे से बातचीत करते थे। शुक्रवार की देर शाम से आज सुबह तक जब उनलोगों के बीच बात नहीं हुई तो उन्हें शंका हुई। इसी शंका के आधार पर वे यहां पहुंचे। तब उन्होंने देखा कि उनकी बहन के ससुर सुरेंद्र भगत और भैंसूर जितेंद्र कुमार बोरा में शव रखकर जलाने के लिए जा रहे है। तब उन्होंने शोरगुल किया। इसके बाद वे दोनों शव को फेंक कर फरार हो गए। मिली जानकारी के अनुसार मृतका धर्मशीला देवी का पति धर्मेंद्र भगत उत्तरप्रदेश के देवरिया में कबाड़ का काम करता है। पुलिस ने घटना की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। एक साथ तीन लोगों की हत्या से पूरा गांव स्तब्ध है। परिजनों में चीख-पुकार मची हैं। वही गांव में मातमी सन्नाटा पसरा है। 

किराना व्यवसायी की संदिग्ध अवस्था में मौत

कटरा (मुजफ्फरपुर) : थाना क्षेत्र के धनौर निवासी 30 वर्षीय विकास कुमार की संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई। वह किराना का व्यवसायी था। परिवार में पत्नी के अलावा दो बच्चे हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम मे एसकेएमसीएच भेज दिया। मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। बताया जाता है वह कुछ दिनों से डिप्रेशन का शिकार था। चंद महीने पहले कोरोना काल में उसके पिता की मौत हो गई थी। इधर, थानाध्यक्ष ने बताया कि इस संबंध में कोई शिकायत नहीं मिली है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत के कारणों का पर्दाफाश हो जाएगा।

 

Edited By: Ajit Kumar