मुजफ्फरपुर, जेएनएन। पैगम्बर-ए-इस्लाम हजरत मोहम्मद के यौम-ए-विलादत पर रविवार को जगह-जगह से जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला जाएगा। शहर से लेकर गांव तक के मदरसों, खानकाहों व मुस्लिम इलाकों से निकले जुलूस में काफी संख्या में लोग शामिल होंगे। शहर से निकलने वाले जुलूसों का जुटान तिलक मैदान में होगा। यहां तिलक मैदान नौजवान कमेटी द्वारा जुलूसों को इस्तकबाल होगा।

कमेटी के चेयरमैन इफ्तखार आलम मुन्ना, अध्यक्ष मो. फारूक गनौर, मस्जिद के मोतवल्ली तैयब आजाद, वरीय अधिवक्ता मकबूल अहमद एजाजी, अधिवक्ता रिजवान अहमद एजाजी, हाजी मो.उस्मान, मीमशाद आलम , गुड्डू गौरी, पम्मी, नेयाज आलम , मो. फारूक खाकसार, मो.आरिफ इमरान अली, कुर्बान अली, इकबाल हसन समेत दर्जनों लोग इस्तकबाल की तैयारी में जुटे हैं। तिलक मैदान मस्जिद व मोहल्ले को सजाया गया है। इससे लोगों में उत्साह है। 

यौम-ए-विलादत पर जश्न-ए-बहारा का आयोजन

यौम-ए-विलादत के मौके पर शनिवार को माड़ीपुर स्थित मरकजी खानकाह व एदार-ए-तेगिया में जश्न-ए-बहारा का आयोजन किया गया। सज्जादानशीं अल्हाज शाह अलवीउल कादरी ने कहा कि पैगंबर इस्लाम पूरी दुनिया के लिए रहमत बन कर आए। मोहब्बत का पैगाम दिया। दुश्मनों को भी माफ करने का पैगाम दिया। जश्न-ए-बहारा में मौलाना सुल्तान रजा, मुफ्ती माहेरुल कादरी, मुफ्ती सईद कादरी, मौलाना जमील अख्तर, मुफ्ती नसीरुद्दीन आदि ने सीरत-ए-नबी पर तकरीर की।  

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप