पूर्वी चंपारण [जेएनएन]। बिहार सीमावर्ती नेपाल के विभिन्न क्षेत्रों में बुधवार की सुबह रुक-रुक कर आए भूकंप के तीन झटकों से लोग दहल गए। जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। लोग घरों से बाहर निकल गए। हालांकि, जान-माल की क्षति की सूचना नहीं मिली है। इसकी जानकारी नेपाल भूकंप मापक केंद्र काठमांडू ने दी है।
पूर्वी चंपारण के रक्सौल से मिली जानकारी के अनुसार, भूकंप का पहला झटका सुबह 6:14 बजे काठमांडू में आया, जिसकी तीव्रता रिएक्टर पैमाने पर 4.8 दर्ज की गई। झटका नौबिसीया में 6:29 बजे आया, जिसकी तीव्रता  5.2 दर्ज की गई। जबकि, 4.3 की तीव्रता का भूकंप धाडिंग में सुबह 6:40 बजे आया।
भूकंप के कारण नेपाल के लोगों में दहशत है। नेपाल के विभिन्न पहाड़ी क्षेत्रों में 2015 से अबतक 468 बार भूंकप के झटके आ चुके हैं। वर्ष 2015 के अप्रैल में आए भूकंप में काफी संख्या में लोगों की मौत हो गई थी। भूकंप का असर नेपाल से सटे भारत के विभिन्न इलाकों में भी खूब पड़ा था।
आज के भूकंप के कारण नेपाल से सटे भारतीय इलाकों में फिर भूकंप का भय सता रहा है। नेपाल में चार दिन पूर्व भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप