मधुबनी, जासं। सरहद पर आम नागरिकों की सुरक्षा में तैनात सीआरपीएफ अधिकारी के बंद पड़े घर में चोरी कर चोरों ने पुलिस को एक बार फिर चुनौती दे डाली है। बंद पड़े मकानों को चोर आम तौर पर निशाना बनाते है। ऐसा ही मामला मधुबनी जिले के बिस्फी में पतौना ओपी क्षेत्र के जगवन गांव से सामने आया है। यहां चोरों ने सिलीगुड़ी में सीआरपीएफ में एसआई पद पर तैनात रंजीत मिश्रा के बंद पड़े मकान को अपना निशाना बनाते हुए लाखों रुपये के सामानों की चोरी कर ली। जिसके बाद एसआई मिश्रा के चचेरे भाई मुकेश मिश्रा ने पुलिस से शिकायत कर पतौना ओपी में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए आवेदन दिया है। प्राथमिकी को दिए आवेदन में कहा है कि उनके भाई सिलीगुड़ी स्थित सीआरपीएफ में एसआई पद पर तैनात हैं। कर्तव्य पर तैनाती के कारण उनका मकान बंद ही रहता है। दीपावली को लेकर घर लौटने से पूर्व रंजीत मिश्रा ने अपने घर के बाहरी व पिछले हिस्सों में साफ-सफाई मजदूरों से करवाने को कहा था। जिसके बाद रविवार को ऊक्त मकान से सटे पड़ोसी संजय साह के छत पर चढ़कर सफाई कराने मजदूर लेकर रंजीत मिश्रा के छत पर पहुंचे। इसी क्रम में आंगन से सटे कमरा का गेट का ताला खुला हुआ लटका मिला। अनहोनी की आशंका व्यक्त करते हुए जब छत से नीचे गए तो सभी कमरा व ट्रंक, पलंग व आलमीरा का ताला टूटा और सामान बिखरा पड़ा दिखा। चोरी की सूचना मकान मालिक रंजीत मिश्रा को दी गई। जिसके बाद पता लगा कि घर में कीमती फुलिया बर्तन, डिनर सेट, सिलाई मशीन, महंगी साडिय़ां, नये कंबल, कई आधुनिक महंगे उपकरण सहित लाखों की चोरी हुई है। अब देखना होगा कि ऊक्त चोरी के इस घटना का पुलिस कब तक पर्दाफाश कर पाती है।

जगवन में कुछ दिन पहले भी हुई थी चोरी :

बता दें कि चोरी की वारदात ठंड के आगमन के साथ ही क्षेत्र में बढऩे लगी है। ठंड के मौसम में अक्सर अहले शाम ही ग्रामीण इलाकों में लोग सो जाते हैं। जिसका फायदा उठाकर चोरी की घटना को चोर आसानी से अंजाम देते हैं। बीते दिनों पूर्व भी जगवन पंचायत के वार्ड तीन निवासी महेश मंडल के घर में चोरी हो चुकी है। स्थानीय लोगों की मानें तो चोरी की घटना पर अंकुश लगाने को पुलिस गश्ती में तेजी लाने की जरूरत है।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh