समस्तीपुर, [पूर्णेंदु कुमार]। सरकार कृषि कार्य के उपयोग में लाए जा रहे 27 रसायनों पर प्रतिबंध लगा सकती है। इस बाबत कृषि एवं कल्याण मंत्रालय ने 18 मई, 2020 को अधिसूचना प्रकाशित की है।

इसके अनुसार, इस सूची में शामिल 27 कीटनाशियों के उपयोग से मनुष्य और पशुओं की जान को खतरा हो सकता है। 45 दिनों में अधिसूचना पर आपत्ति अथवा सुझाव दिए जा सकते हैं। इन रसायनों में खरपतवारनाशी, कीटनाशी, रोगनाशी व फफूंदनाशी हैं। हालांकि, अभी प्रतिबंध को लेकर कृषि विभाग के अधिकारियों ने पुष्टि नहीं की है।

अनुसंधान के बाद लिया गया निर्णय

अधिसूचना के अनुसार, इन रसायनों पर काफी अनुसंधान के बाद यह निर्णय लिया गया है। ये दवाएं किसानों के बीच काफी प्रचलित हैं। वर्तमान कृषि में वैज्ञानिकों की अनुशंसा के बाद किसान धड़ल्ले से इसका उपयोग कर रहे हैं।

बिहार सरकार से नहीं मिली सूचना

जिला कृषि पदाधिकारी चंद्रशेखर प्रसाद ने कहा कि इन दवाओं पर प्रतिबंध की सूचना भारत सरकार के गजट से मिली है। बिहार सरकार से अभी कोई भी सूचना नहीं है। सूचना मिलते ही अमल किया जाएगा। वहीं, राज्य के प्लांट प्रोडक्शन के ज्वाइंट डायरेक्टर उमेश मंडल ने कहा कि अभी इस अधिसूचना की स्टडी नहीं की गई है। अगर प्रतिबंधित होगा तो इसपर भी प्रतिबंध लगेगा। दवाओं के प्रतिबंधित होने की पुष्टि करते हुए कहा कि अभी विधिवत पत्र नहीं मिला है। वाट््सएप व अन्य माध्यमों से जानकारी मिली है।

उधर, दवा व्यवसायियों में हड़कंप मचा है। क्योंकि, इन दवाओं की अधिक बिक्री के कारण कीटनाशक दवा दुकानदारों के पास भारी मात्रा में उपलब्ध है। 

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस