समस्‍तीपुर, जेएनएन। बिहार के समस्‍तीपुर स्थित शादी के एक घर में उस समय कोहराम मच गया, जब एक युवक जिंदा जल गया। अस्‍पताल ले जाते-जाते उसकी मौत हो गई। रविवार को वह दिल्‍ली जाने वाला था। ट्रेन के लिए टिकट भी हो चुका था। लेकिन यह नीयती को मंजूर नहीं था, सो इसके ठीक पहले वह मौत के आगोश में चला गया। घर में परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।  

जानकारी के अनुसार, कल्‍याणपुर थाना क्षेत्र की मुक्तापुर पंचायत स्थित दौलतपुर गांव का यह मामला है। वार्ड नंबर 19 में शंभू राम के घर में आग लग गई। घर के सारे सामान जलकर राख हो गए। उसी आग की चपेट में युवक रंजीत राम आ गया। वह पूसा थाना क्षेत्र के गढ़िया बिरौली का रहनेवाला था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। 

दरअसल, मुक्तापुर पंचायत के दौलतपुर गांव निवासी शंभू राम की पुत्री गूंजा की 28 नवंबर को शादी हुई। उसी में उनके साढू राजकुमार राम का पुत्र रंजीत राम भी आया था। उनकी पत्नी सोनी देवी व 10 वर्षीय पुत्र अमन कुमार यहां पहले ही आ चुके थे। शादी-ब्याह संपन्न होने के बाद रंजीत सपरिवार दिल्ली जाने वाला था। समस्‍तीपुर से वे लोग रविवार को निकलने वाले थे। टिकट भी हो गया था।

बताया जाता है कि शनिवार की रात परिवार के सभी लोग खाना खाने के बाद सोने चले गए। देर रात अचानक घर में आग लग गई। आग लगने के कारण घर के सारे सामान जलकर राख हो गए। इस अगलगी में शंभू का साढ़ू राजकुमार राम का 33 वर्षीय पुत्र रंजीत राम बुरी तरह झुलस गया। कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। घटना के बाद परिवार में चीख-पुकार मच गई। घटना के पीछे शॉर्ट सर्किट को कारण बताया जा रहा है। इलाज के लिए अस्‍पताल ले जानेवाले थे, लेकिन उसके पहले ही रंजीत ने दम तोड़ दिया। सूचना पाकर पुलिस भी पहुंच गयी। जांच के बाद शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजा।  

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस