मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। रात्रि गश्ती को धता बताते हुए शहर के विभिन्न इलाकों में शातिर चोरों द्वारा लगातार चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा। मगर चोरों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस की तरफ से कार्रवाई नहीं की जा रही। नतीजा चोरों के हौसले बुलंद है। ऐसा प्रतीत हो रहा कि चोरी का मामला दर्ज करने के बाद पुलिस की तरफ से अपनी कार्रवाई समेट ली जा रही है। तब तो हाल के दिनों में चोरी की कई घटनाएं हुई। मगर एक भी मामले में चोरों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी।

 रिकार्ड पर गौर करें तो एक महीने के भीतर शहर के नगर, मिठनपुरा, काजीमोहम्मदपुर, ब्रहमपुरा, सदर व अहियापुर थाना क्षेत्र से करीब दो करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति की चोरी की गई। मगर सभी मामले में कार्रवाई शिथिल पड़ी है। गत सप्ताह सूतापटटी में एक मार्केट की तीन दकानों से लाखों की चोरी कर ली गई। इसके पूर्व भी सूतापटटी व कल्याणी इलाके के दो दुकानों से लाखों की चोरी की गई थी। इसके अलावा सातपुरा इलाके में रिटायर्ड दारोगा, इंस्पेक्टर व कोर्ट कर्मी के घर से करीब एक करोड़ की संपत्ति की चोरी की गई थी। अहियापुर में एक दवा की दुकान से 30 लाख की चोरी की गई। सदर थाना क्षेत्र में कई चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया गया। मगर चोरों की गिरफ्तारी की दिशा में पुलिस की तरफ से कोई रुचि नहीं ली गई।

 हालांकि सिटी एसपी राजेश कुमार का कहना है कि चोरों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी की जा रही है। दूसरी ओर शहरी क्षेत्र में हुई चोरी की घटनाओं की डीएसपी नगर ने गत सप्ताह समीक्षा कर सभी थानाध्यक्षाें को निर्देश दिया था। मगर कार्रवाई की दिशा में थानाध्यक्षों की तरफ से अभियान नहीं चलाया जा रहा। इससे चोरी की घटनाएं नहीं रुक रही है।

 

Edited By: Murari Kumar