दरभंगा, जेएनएन। बहादुरपुर थाने के गोटही गांव में मुंबई पुलिस ने स्थानीय थाने के सहयोग छापेमारी कर करोड़ों के जेवरात, नकदी व विदेशी डॉलर चोरी मामले के आरोपित को गिरफ्तार किया। आरोपित के घर से पुलिस ने चोरी के लगभग 65 लाख रुपये का जेवरात एवं विदेशी डॉलर बरामद कर लिया है। गिरफ्त में आया फूलो मुखिया सोनकी ओपी क्षेत्र के गोटही गांव निवासी मोहन सहनी का पुत्र है। जेवरात से भरे झोला को वह अपने सिरहाने में रखकर सोया था। इस बीच सदर डीएसपी अनोज कुमार के निर्देश पर सोनकी ओपी प्रभारी धर्मपाल व मुंबई के गामदेवी थाने के इंस्पेक्टर शरद गाड़े सहित पुलिस बल ने छापेमारी कर उसे दबोच लिया। पुलिस को नहीं करनी पड़ी मसक्कत
चोरी के सामान को खोजने में पुलिस को कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। सारे सामान को एक थैला में डाल सिरहाने में रखे हुए था। थैले की लंबाई और वजन देख पुलिस को समझने में देरी नहीं लगी। थैले को खोलकर देखते ही पुलिस अवाक रह गई। शनिवार की शाम डीएसपी कुमार ने बताया कि झोला से 16 किलो चांदी का जेवरात मिला है। जिसमें कटोरा, ट्रे, मूर्ति, सिक्का, दो हाथी आदि शामिल है। जबकि, तीन किलो सोना के जेवरात में चूड़ी, कंगन, माला, चेन, कान का टॉप, कान की बाली बरामद की गई है। इसके अलावा झोले से एमआई और एप्पल कंपनी का एक-एक मोबाइल, राडो एवं रोलेक्स कंपनी की सात कीमती घड़ियां, कनाडा के 5, अमेरिका के 92, हालैंड के 10, इंडोनेशिया के 6, हांगकांग के 37, दक्षिण अफ्रीका के चार सहित इंग्लैंड और यूएई देशों की मुद्राएं बरामद की गई हैं। जिसका भारतीय मूल्य लाखों आंका जा रहा है।
दो आरोपित मुंबई में हुए थे गिरफ्तार
सदर डीएसपी कुमार ने बताया कि मुंबई के गामदेवी थाने के पेडर रोड स्थित स्वर्ण आभूषण व्यापारी रोहण वेगाणी के घर 9 नवंबर की सुबह फूलो सहनी अपने बड़े भाई लालू मुखिया उर्फ छोटे एवं बहेड़ा थाने क्षेत्र के पुतई गांव निवासी रामजीवन मुखिया के पुत्र संतोष मुखिया के साथ मिलकर चोरी की घटना को अंजाम दिया था। तीनों एक ही जगह विभिन्न कोठियों में घरेलू नौकर थे। इस बीच संतोष का मालिक पूरे परिवार के साथ आस्ट्रेलिया चला गया। उसने इसकी जानकारी फूलो को दी।
 इसके बाद तीनों ने साजिश रची और पाइप के सहारे 11वीं मंजिल पर चढ़कर मकान में खिड़की से घुस गया। लॉकर को तोड़ कर लगभग डेढ़ करोड़ के जेवरात सहित कई सामान की चोरी कर उसी रास्ते से वापस हो गया। उनकी पूरी करतूत सीसीटीवी में कैद हो गई। इसके बाद वहां की पुलिस ने संतोष मुखिया और लालू मुखिया उर्फ छोटे को गिरफ्तार कर लिया। दोनों के पास से भारी मात्रा में चोरी का सामान बरामद हुआ। जबकि, फूलो चोरी का एक हिस्सा लेकर 14 नवंबर को अपने घर पहुंच गया। इसकी जानकारी मिलते ही वहां की पुलिस ने दरभंगा से संपर्क कर छापेमारी की। जिसमें सफलता मिली।
दिया कई घटनाओं को  है अंजाम
मुंबई के गामदेवी थाने के इंस्पेक्टर शरद गाड़े ने बताया कि उस इलाके में इन लोगों ने कई घटनाओं को अंजाम दिया है। लेकिन, कोई साक्ष्य नहीं मिल रहा था। हालांकि, तीनों के पास से जो चोरी का सामान बरामद किया गया है उसमें कई ऐसा सामान मिला है जो दूसरे घर से चोरी की गई है। पीड़ित परिवारों से बरामद सामान की पहचान कराने के बाद अन्य मामले में तीनों को रिमांड पर लेकर फिर से पूछताछ की जाएगी।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस