मुजफ्फरपुर, जेएनएन। Home delivery of Shahi litchi: उद्यान विभाग को पता नहीं और डाक विभाग ने लीची की होम डिलीवरी शुरू कर दी। बुधवार को शहर के कई लोगों के घर तक लीची पहुंचाई गई। हैरत की बात यह कि उद्यान विभाग की वेबसाइट पर दो-तीन दिन बाद लीची की होम डिलीवरी की सूचना है। सहायक निदेशक उद्यान अरुण कुमार का कहना है कि क्योंकि फल पका नहीं है। ऐसे में खट्टे फल की होम डिलीवरी से बदनामी होती। इसलिए होम डिलीवरी को तत्काल रोक दिया गया है। दो-तीन दिन में जब फल पूरी तरह तैयार हो जाएगा तब इसकी होम डिलीवरी की जाएगी। जबकि बुधवार कई लोगों को होम डिलीवरी के जरिए लीची उपलब्ध कराई गई। 

 बताते चलें कि, लॉक टाउन के चलते लीची को बाजार उपलब्ध कराने के लिए बिहार राज्य बागवानी मिशन ने डाकघर के साथ करार किया है। इसके तहत लोगों को उद्यान विभाग के वेबसाइट पर ऑनलाइन ऑर्डर देना है। इसके आधार पर डाक विभाग फार्म प्रोड्यूसर्स कंपनी के माध्यम से लोगों के घरों तक लीची की होम डिलीवरी कर रही है। सरकार की इस पहल को जबरदस्त रिस्पांस मिला है। 

 मुजफ्फरपुर शहरी क्षेत्र के लोगों ने बड़ी संख्या में विभाग के साइट पर ऑनलाइन आर्डर दिया है। पूर्व में 25 मई से होम डिलीवरी की घोषणा की गई थी। जिसे बढ़ाकर 26 मई कर दिया गया था। बाद में फल पूरी तरह तैयार नहीं होने के चलते होम डिलीवरी को अब दो-तीन दिनों के लिए टाल दिया गया। जबकि कई उपभोक्ताओं तक बुधवार की शाम से लीची की होम डिलीवरी होने लगी है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस