मुजफ्फरपुर, जेएनएन। चक्कर मैदान में बुधवार से सेना बहाली प्रक्रिया शुरू होगी। इसकी तैयारी पूरी कर ली गई है। अभ्यर्थियों के रूकने सहित अन्य आवश्यक व्यवस्था पूरी हो चुकी है। उक्त बातें मंगलवार को तैयारी का जायजा लेने चक्कर मैदान पहुंचे बिहार-झारखंड के डीडीजी ब्रिगेडियर एचएस जग्गी ने कही। शांतिपूर्ण तरीके से बहाली प्रक्रिया संपन्न हो। इसे लेकर सेना के अधिकारियों के साथ एक बैठक की। कई बिंदुओं पर दिशा-निर्देश भी दिए गए।

बताया गया कि पहले दिन सिपाही फार्मा के पद पर बहाली को लेकर बिहार-झारखंड के छह सौ अभ्यर्थी दौड़ लगाएंगे। दोनों राज्यों से लगभग एक हजार ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया गया था। इसमें से छह सौ अभ्यर्थियों का चयन किया गया है। डीडीजी ने मैदान में बने पंडाल, रनिंग ट्रैक, पीएमटी व पीएफटी चेकअप, सीसीटीवी और कंट्रोल रूम का भी निरीक्षण किया।

बहाली प्रक्रिया होगी पारदर्शी

डीडीजी ने पत्रकारों से कहा कि बहाली प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी होगी। मैदान में चप्पे-चप्पे की गतिविधियों पर सीसी कैमरे से नजर रखी जाएगी। अभ्यर्थी किसी भी बिचौलिए के झांसे में नहीं आएं। खुद पर भरोसा और आत्मविश्वास रखें। सफलता निश्चित तौर पर मिलेगी। कोई अभ्यर्थी फर्जीवाड़ा करते पकड़ा गया तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। उसकी उम्मीदवारी रद करते हुए पुलिस के हवाले किया जाएगा।

इस बार दो हजार अधिक अभ्यर्थी

पिछले साल की तुलना में इस बार दो हजार अधिक अभ्यर्थी शामिल होंगे। गत साल लगभग 45 हजार अभ्यर्थियों ने सेना बहाली भर्ती प्रक्रिया में भाग लिया था। इस बार यह संख्या 47 हजार हो गई है। डीडीजी ने कहा कि आंकड़ों से पता लगता है युवाओं में देश सेवा करने का जज्बा किस कदर बढ़ रहा है।

50 साल पूरा करने पर काटा केक

सेना भर्ती बोर्ड की स्थापना मुजफ्फरपुर में 1969 में हुई थी। आठ जिलों के अभ्यर्थियों की बहाली यहां से होती है। इस वर्ष बोर्ड की स्थापना हुए 50 साल पूरे हो गए। इस मौके पर डीडीजी ब्रिगेडियर जग्गी, सेना भर्ती बोर्ड के निदेशक कर्नल मनमोहन सिंह मनहास समेत अन्य अधिकारियों ने केक काटा। एक दूसरे को केक खिलाकर बधाई दी।

रात्रि ढ़ाई बजे से मिलेगा प्रवेश

रात्रि ढ़ाई बजे से अभ्यर्थियों को फायङ्क्षरग एरिया से चक्कर मैदान में प्रवेश कराया जाएगा। रफ हाइट व एडमिट कार्ड जांच के बाद मार्सलिंग एरिया में ले जाया जाएगा। इसके बाद बैच नंबर देकर रनिंग ट्रैक के पास भेजा जाएगा। बैच नंबर के आधार पर दौड़ होगी।

आंख की जांच में दी गई छूट

अभ्यर्थियों के मेडिकल के दौरान आंख की जांच में इस बार छूट दी गई है। मुख्यालय स्तर से इसमें बदलाव किया है। ब्रिगेडियर जग्गी ने बताया कि मेडिकल साइंस ने देश में काफी तरक्की कर ली है। आंख का इलाज काफी सुलभ हो गया है। इसलिए मुख्यालय ने आई साइट की जांच में कुछ छूट दी है। इसकी जानकारी मेडिकल जांच करने वाले चिकित्सकों के दे दी गई है।

इस बारे में बिहार-झारखंड के डीडीजी बिग्रेडियर एचएस जग्गी ने कहा कि बहाली प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी और सीसी कैमरे की निगरानी में होगी। अभ्यर्थी अपने मेहनत और काबिलियत पर भरोसा रखें। दलालों के झांसे में नहीं आएं। 47 हजार अभ्यर्थियों में से जिनका चयन होगा। उन्हें देश सेवा करने का अवसर मिलेगा।

इन तिथियों पर होगी विभिन्न पदों के लिए बहाली प्रक्रिया

27 नवंबर : बिहार-झारखंड, सिपाही फार्मा बहाली

28 नवंबर : आठ जिला, सोल्जर टेक्निकल पद के लिए बहाली

29 नवंबर : आठ जिला, सोल्जर क्लर्क, स्टोरकीपर और सोल्जर नर्सिंग सहायक पद पर बहाली ।

30 नवंबर : पश्चिम चंपारण, सोल्जर जीडी पद पर बहाली।

1 दिसंबर : मुजफ्फरपुर (14 प्रखंड) सोल्जर जीडी पद पर बहाली।

2 दिसंबर : दरभंगा, मधुबनी, कुढऩी और सकरा, सोल्जर जीडी पद पर बहाली।

3 दिसंबर : समस्तीपुर, शिवहर, पूर्वी चंपारण (रमगढ़वा और बनकटवा), सोल्जर जीडी पद पर बहाली।

4 दिसंबर : पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी, सोल्जर जीडी पद पर बहाली।

5 दिसंबर : म जफ्फरपुर, पश्चिम चंपारण, शिवहर, सोल्जर ट्रेडमैन पद पर बहाली।

6 दिसंबर : प र्वी चंपारण, समस्तीपुर, सोल्जर जीडी पद पर बहाली।

7 दिसंबर : मधुबनी, दरभंगा, सीतामढ़ी, सोल्जर ट्रेडमैन पद पर बहाली।

 

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस