मुजफ्फरपुर, जेएनएन। मौसम के बदलाव के साथ गंदगी और मच्छरों की बढ़ी संख्या बीमारियां बढ़ाने लगी हैं। इससे लोग मलेरिया, डायरिया व पीलिया की चपेट में आ रहे हैं। एसकेएमसीएच में बुधवार को मलेरिया से ग्रसित आठ मरीज भर्ती हुए। वहीं, डायरिया व पीलिया से पीडि़त 13 मरीजों का पहले से इलाज चल रहा है। शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. जेपी मंडल एवं डॉ.यूसी विद्यार्थी ने बताया कि चौतरफा फैली गंदगी से मच्छरों की संख्या में इजाफा हुआ है।

   इससे नित्य बीमारियों से शिकार होकर मरीज पहुंच रहे हैं। इसमें सर्वाधिक बच्चे होते हैं। इन दिनों डायरिया के साथ दस्त, मलेरिया व पीलिया से ग्रसित मरीज पहुंच रहे हैं। इनका मुख्य कारण दूषित पानी व खुले में बिकने वाले खाद्य पदार्थ के सेवन के साथ गंदगी व जलजमाव है। इससे बचाव के लिए डीडीटी का छिड़काव, फॉगिंग के साथ साफ-सफाई जरूरी है।

नहीं हो रहा छिड़काव

मच्छरों के प्रकोप से लोगों को बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग गंभीर नहीं है। शहर से लेकर जिले के विभिन्न भागों में गंदगी का आलम है। विभागीय स्तर पर छिड़काव नहीं करने के कारण मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है। मुख्य मार्गाे पर गंदगी का आलम है। अगर जल्द ही छिड़काव नहीं शुरू किया जाता है तो इन बीमारियों का ज्यादा असर देखने को मिलेगा। लोगों को छिड़काव शुरू होने का इंतजार है।

 

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप