मधुबनी [राम प्रकाश चौरसिया]।  रहिका प्रखंड में बीते लोकसभा चुनाव संबंधी बिल में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। डीएम की ओर से गठित तीन सदस्यीय टीम की जांच में 87 लाख की गड़बड़ी मिली है। बीडीओ से जवाब तलब किया गया है।

रहिका प्रखंड प्रशासन ने एक करोड़ 16 लाख 73 हजार 916 रुपये चुनाव खर्च का बिल जिले को भेजा था। जब डीएम ने जांच कराई तो 87 लाख एक हजार नौ रुपये की गड़बड़ी पकड़ी गई। टीम ने जांच में अस्थायी विद्युतीकरण के बिल में 28 लाख 73 हजार 799 रुपये, टेंट-शामियाने के बिल में 11 लाख 49 हजार 600 रुपये की गड़बड़ी पकड़ी है। टेंट-शामियाने के एक अन्य बिल में 12 लाख 43 हजार 548 रुपये और अस्थायी विद्युतीकरण के भी एक अन्य बिल में आठ लाख 62 हजार 633 रुपये की गड़बड़ी पकड़ी गई।

 भोजन-अल्पाहार संबंधी बिल में सात लाख 88 हजार 201, स्टेशनरी के बिल में 66 हजार 408 और वाहन ईंधन आपूर्ति के बिल में 2,541 रुपये की गड़बड़ी पकड़ी गई। वीडियोग्राफी एवं वेबकास्टिंग मद में तो एक रुपये भी खर्च नहीं किए गए, लेकिन बिल 13 लाख 95,960 रुपये को भेजा गया। अन्य मद के बिल में भी तीन लाख 18 हजार 249 की गड़बड़ी मिली। जांच टीम ने डीएम से अनुशंसा की है कि यदि संबंधित संवेदकों को अधिक राशि का भुगतान किया गया है तो वसूली के साथ काली सूची में दर्ज करने की कार्रवाई हो।

रहिका बीडीओ से जवाब तलब

सदर एसडीओ, डीसीएलआर व वरीय कोषागार पदाधिकारी की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद डीएम डॉ. निलेश रामचंद्र देवरे ने रहिका बीडीओ से जवाब तलब किया है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस