पूर्वी चंपारण, जासं। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कोविड टीकाकरण के बाद टीकाकरण कर रही जीएनएम को सिसवा सोव पंचायत के अहिमन छपरा गांव निवासी शिक्षक अमरदीप कुमार ऊर्फ गोलू ने गाली-गलौज कर अभ्रद भाषा का प्रयोग किया। जिसमें नाराज होकर सभी स्वास्थ्यकर्मी दो घंटों तक हॉस्पिटल गेट में ताला बंद कर टीकाकरण कार्य को बाधित किया। इसकी सूचना मिलते ही सीओ अश्विनी कुमार ने पहुंचकर सभी जीएनएन और एएनएम को समझा बुझाकर टीकाकरण कार्य शुरु कराया। जीएन एम स्मिता कुमारी,अभिलाषा कुमारी ,डौली कुमारी, मौसम कुमारी, अनिता कुमारी ब'ची कुमारी, राजमती कुमारी, श्यामा सिन्हा, कत्यायनी देवी ने बताया की आवेदन थाने को दिया जाएगा। वही प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन फोन बंद था।

कोविड जागरूकता के बाद किया जा रहा टीकाकरण

प्रखंड क्षेत्र के लोगोंं को कोविड 19 से बचाने के लिए पकड़ीदयाल प्रखंड में कोविड-19 का टीकाकरण किया जा रहा है। टीकाकरण के कार्यों में केयर इंडिया टीम सहयोग कर रही है। बुधवार को प्रखंड अन्तर्गत राजकीय मध्य विद्यालय पकड़ीदयाल में कोविड-19 टीकाकरण के लिए कैंप का आयोजन किया गया। जिसमें 18 वर्ष से ऊपर के साथ 45 वर्ष से ऊपर के लाभार्थियों को भी कोविड का टीका दिया गया। टीकाकरण के पूर्व कोविन पोर्टल द्वारा लोगों के आधार का ऑनलाइन सत्यापन किया गया। फिर रजिस्ट्रेशन के बाद लाभार्थी को टीका दिया गया। टीकाकरण केन्द्र पर कोरोना प्रोटोकॉल के पालन के साथ टीकाकरण किया गया। वहीं टीकाकरण के पूर्व प्रखंड क्षेत्र में चौपाल लगा जागरूकता अभियान भी लगातार चलाया जा रहा था, जहां ग्रामीणों को मास्क लगाने, शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने, समय-समय पर हाथों को साबुन से या सैनिटाइजर से साफ करते रहने के साथ बेवजह घरों से न निकलने की बातें बताई जाती हैं। जिसका अब ग्रामीण लोग भी पालन कर रहे हैं। जागरूकता के कार्यों में आशा फैसिलिटेटर, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्यकर्मी, व स्थानीय जनप्रतिनिधि भी सहयोग कर रहे हैं ।

कोरोना से बचने के लिए टीकाकरण बेहद आवश्यक

सिविल सर्जन डॉ अखिलेश्वर प्रसाद ङ्क्षसह ने बताया टीकाकरण के द्वारा देश में लाखों लोग सुरक्षित हो रहे हैं। कोविड से बचने के लिए देश मे चल रहा टीकाकरण बेहद सुरक्षित एवं प्रभावी है। टीकाकरण के बारे में वैज्ञानिक अनुसंधान में अब यह बात सामने आ रही है कि जिन लोगों ने कोविड- 19 का दोनों डोज लिया है और अगर वह कहीं से भी कोरोना से संक्रमित हो भी जाते हैं तो स्वस्थ होने में उन्हें अधिक समय नहीं लगता है।उन्होंने बताया सभी अस्पतालों के चिकित्सा पदाधिकारियों व स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना के मरीजों के लिए हर प्रकार की दवाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं । किसी प्रकार की दिक्कत होने पर तुरंत जिला अस्पताल से सम्पर्क करने को कहा गया है । अभी तक लगभग 13 लाख लोगों की कोरोना की जाँच की जा चुकी है । सदर अस्पताल के कोरोना आइसोलेशन सेंटर पर कंट्रोल रूम भी खोले गए हैं जिसमें लगातार स्वास्थ्य कर्मी अपनी सेवाएं दे रहे हैं ।

45 वर्षों से ऊपर के लाभार्थियों का हो रहा है टीकाकरण

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ वीणा कुमारी दास ने बताया पकड़ीदयाल प्रखंड में 18 वर्ष एवम 45 साल से ऊपर के लोगों का कोविड का टीकाकरण किया जा रहा है। सभी को आगे आकर इसका फायदा उठाना चाहिए। उन्होंने कोविड से बचाव के लिए लोगों को किसी भी जगह पर जाने से पहले मास्क जरूर लगाने चाहिए । उन्होंने कहा इस बात का जरूर ध्यान दें कि आपका मास्क उतरने न पाए। खांसने और छींकने वाले लोगों से रहें दूर। बिना आवश्यक कार्य के घरों से बाहर न जाएं। केयर इंडिया के ब्लॉक मैनेजर सतीश कुमार ङ्क्षसह ने बताया इस कार्य में केयर इंडिया टीम द्वारा लक्ष्य प्राप्ति हेतु सभी सत्र स्थल पर आवश्यक सहयोग किया जा रहा है। उन्होंने बताया कोविड टीकाकरण में लगातार स्वास्थ्य कर्मी अपनी सेवाएं दे रहे हैं । सभी मास्क, सैनिटाइजर के साथ कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करते हुए सेवा दे रहे हैं ।