मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण के दौरान समाज में जागरूकता, लोगों को अपडेट करने से लेकर उन्हें मानसिक बूस्टर देने की जरूरत है। इसको ध्यान में रखते हुए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की ओर से विवि के कुलपति और सभी कॉलेज के प्राचार्यों को पत्र भेजा गया है। इसमें कहा गया है कि उच्च शिक्षण संस्थान में अध्ययनरत युवाओं में उत्साह और कार्य करने की ललक अधिक होती है। इस विषम परिस्थिति में युवाओं में नेतृत्व कौशल को जागृत करने, उन्हें सहानुभूति के साथ आत्मसात करने की जरूरत है। प्रत्येक छात्र एक व्यक्ति, पारिवारिक और सामाजिक स्तर पर इस घातक वायरस के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं। कहा गया है कि 18 से 30 वर्ष के बीच के छात्र, शिक्षक व कर्मचारी इसका हिस्सा बन सकते हैं। साथ ही इस अभियान में शामिल होने के लिए अन्य युवाओं को प्रोत्साहित करें ताकि वे अपने परिवार, समुदाय और देश की रक्षा कर सकें। युवा वॉरियर बनने के लिए टीकाकरण को बढ़ावा देने, पंजीकरण प्रक्रिया को समझाने, टीकाकरण के बाद क्या करें और क्या न करें इसकी जानकारी लोगों को देनी है। लोगों को मानसिक रूप से मजबूती देने के लिए विशेषज्ञ की सलाह देने, सकारात्मक समाचारों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए प्रेरित करना है। उन्हें कोरोना काल में फेक न्यूज से बचने के लिए भी सलाह देना है। संक्रमितों की घर पर ही देखभाल, पोषण और कोविड उपयुक्त व्यवहार, खतरे के संकेतों और अस्पताल में भर्ती होने के बारे में पूरी जानकारी देनी है। साथ ही साफ-सफाई को लेकर विशेष रूप से जागरूक करना है। युवा वॉरियर्स को कार्यों के पूरा होने पर यूनिसेफ की ओर से प्रमाण पत्र दिया जाएगा। 

वरुण अग्रवाल को मिला प्रथम पुरस्कार

जागरण संवाददाता, मुजफ्फरपुर : अखिल भारतीय मारवाड़ी युवा मंच द्वारा आयोजित ऑनलाइन स्लोगन प्रतियोगिता में मारवाड़ी युवा मंच मुजफ्फरपुर शाखा के वरुण अग्रवाल को प्रथम एवं निशा सराफ को तृतीय पुरस्कार मिला। अखिल भारतीय मारवाड़ी युवा मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष कपिल लाखोटिया, प्रियंका नहाटा, पराग अग्रवाल, प्रांतीय अध्यक्ष विकास खंडेलिया ने उनको ऑनलाइन पुरस्कृत किया।

बच्चों को पढ़ाओ, बाल मजदूरी हटाओ

मुजफ्फरपुर : मारवाड़ी युवा मंच मुजफ्फरपुर संस्कृति शाखा द्वारा विश्व बालश्रम निषेध दिवस पर शनिवार को स्लम एरिया के बच्चों में पठन-पाठन सामग्री तथा खाने की चीजों का वितरण किया गया। कार्यक्रम में बच्चों तथा उनके अभिभावकों को बालश्रम एक अपराध है विषय पर जागरूक किया गया। कार्यक्रम में आइपीपी प्रीति पोद्दार, अध्यक्ष प्रियंका तुलस्यान, सचिव संगीता गोयनका की मौजूदगी रही।  

Edited By: Ajit Kumar