मुजफ्फरपुर : रेलवे बोर्ड द्वारा गठित यात्री सुविधा समिति की टीम ने शुक्रवार को जंक्शन का निरीक्षण किया। इस दौरान रिटायरिग रूम, पेयजल के नल पर कई टेप नहीं होने, पंखा खराब, शौचालय बंद व अन्य कमियां मिलीं। इन कमियों को देख अधिकारियों द्वारा संबंधित कर्मियों को फटकार लगाई गई। वहीं, टीटीई व सहायक अभियंता को निलंबित करने का आदेश दिया गया।

टीम के सदस्य सुबह 11 बजे जंक्शन पर पहुंचे। इस दौरान पहले एक नंबर प्लेटफॉर्म के स्टॉल पर वेंडरों से पूछताछ की और कागजात देखे। वहीं, तीन, चार व छह नंबर प्लेटफॉर्म पर पेयजल नल पर कई टेप गायब व गंदगी मिलने पर सहायक अभियंता को निलंबित करने और रिटायरिग रूम में कमरा बुक होने की जानकारी लेने पर सही जवाब नहीं देने पर टीटीई को निलंबित करने को कहा। यूटीएस से सटा शौचालय बंद होने पर कर्मियों को फटकार लगाई। मुफ्त मे सेवा शुरू कराने को कहा।

करीब दो घंटे निरीक्षण के बाद टीम के सदस्य शिविर में भोजन करने पहुंचे। इसके बाद उनका स्वर ही बदल गया। टीम सदस्य वीर कुमार यादव, हिमाद्री बल व डॉ.अजीत कुमार ने पत्रकारों से मुखातिब होते हुए कहा कि एक-दो कमियां मिली हैं। इन्हें बेहतर किया जाएगा। दो अधिकारियों को निलंबित करने की बात पर उन्होंने इन्कार कर दिया। सदस्यों ने कहा कि जो कमियां मिलीं हैं वे सात दिनों के अंदर ठीक हो जाएंगी। इसकी रिपोर्ट रेलवे बोर्ड को सौंपी जाएगी। मौके पर सीनियर डीसीएम चंदशेखर प्रसाद, डीसीएम सुबोध कुमार, प्रभारी क्षेत्रीय अधिकारी एके पांडेय, आमोद कुमार आदि थे।

बच्चा लेने को चलती ट्रेन से कूदी महिला, बाल-बाल बची : प्लेटफॉर्म संख्या तीन पर शुक्रवार को छूटे बच्चे को लेने के लिए दौड़ रही सप्तक्रांति एक्सप्रेस की जनरल बोगी से एक महिला कूद गई। गिरने से वह जख्मी हो गई। वहीं, ट्रेन की चपेट में आने से बाल-बाल बच गईं। इसके बाद महिला दौड़कर बच्चे के पास पहुंची और उसे लेकर ट्रेन पकड़ने को दौड़ी। इसी बीच यात्रियों ने वैक्यूम कर ट्रेन रोकी। इसके बाद उसे व बच्चे को चढ़ाया गया। यात्रियों ने कहा कि जनरल बोगी में चढ़ने के लिए धक्का-मुक्की हुई। इसमें प्लेटफॉर्म पर बच्चा छूट गया। महिला सामान लेकर चढ़ गई। बोगी में बच्चे को खोजने पर नहीं मिला। इसी बीच ट्रेन खुलने पर वह कूद गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस