मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। सीनेट की बैठक शुरू होने से पूर्व अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बैनर तले छात्र नेताओं ने मेन गेट को बंद कर दिया है। छात्र नेताओं का कहना है कि विश्वविद्यालय में जानबूझकर छात्रों को परेशान करने के लिए रिजल्ट पेंडिंग कर दिया जाता है। उसमें सुधार के लिए छात्र छात्राओं को चक्कर लगाना पड़ता है और अवैध उगाही का शिकार होना पड़ता है। इसके अलावा उच्च विद्यालय में नामांकन की प्रक्रिया को ठीक करने एक अधिकारी को एक ही जिम्मेदारी देने की मांग की जा रही है।

 हाथों में विभिन्न नारों की तख्ती लिये छात्र कुलपति समेत अन्य अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। छात्रों से वार्ता के लिए कुलानुशासक प्रो.अजित कुमार पहुंचे लेकिन उन्हें बेरंग लौटना पड़ा। बैठक के दौरान विधि व्यवस्था बनाए रखने को लेकर कई थानों की पुलिस परिसर के बाहर तैनात है। लेकिन छात्र नेता उनके बगल से भीतर प्रवेश कर मेन गेट बंद कर दिया है।

यह भी पढ़ें: LNMU: मिथिला विश्वविद्यालय में 40 साल से राष्ट्रीय खेल हॉकी का नहीं हुआ आयोजन, सूची में भी नहीं किया गया शामिल

यह भी पढ़ें: दरभंगा में शिक्षा विभाग की खुली पोल! विद्यार्थियों को जमीन पर बैठ कर देनी पड़ी परीक्षा

यह भी पढ़ें: Muzaffarpur : जहरीली शराब पीने से एक और युवक की मौत, दो की हालत गंभीर, छापेमारी में मारी मात्रा में शराब जब्त

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021