मुजफ्फरपुर : आभूषण कारोबारी हत्याकांड में तीन दिन बाद मंगलवार की शाम एसएसपी जयंत कांत और सिटी एसपी राजेश कुमार ने अतरदह स्थित घटनास्थल पर पहुंचकर जांच की।

इस दौरान दोनों अधिकारी करीब आधा घंटे तक रुके और छानबीन की। इसके बाद जांच अधिकारी को कई बिदुओं पर निर्देश दिया। दूसरी ओर मामले की गुत्थी सुलझाने व अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर गठित विशेष टीम द्वारा मंगलवार को कई जगहों पर छापेमारी की गई, मगर चौथे दिन भी ठोस नतीजे पर टीम नहीं पहुंची। हालांकि एक रिश्तेदार समेत तीन संदिग्धों को सोमवार को हिरासत में लिया गया था। इन सभी से पूछताछ की जा रही है। पुलिस का कहना है कि हिरासत में लिए गए रिश्तेदार को फिलहाल पीआर बांड पर छोड़ दिया गया है। दूसरी ओर विशेष टीम के पदाधिकारी ने कारोबारी के सादपुरा धनुका टोला स्थित घर पर पहुंचकर परिवार के अन्य सदस्यों से अलग-अलग पूछताछ की। पुलिस पता लगा रही कि कहीं इनका किसी से कोई विवाद या दुश्मनी तो नहीं थी। सभी का बयान लेकर पुलिस लौट आई। कहा जा रहा कि कच्ची-पक्की इलाके के एक शातिर की इस घटना में संलिप्तता सामने आई है। उसके द्वारा लगातार कच्ची-पक्की व आसपास के इलाके में गोलीबारी की जा रही थी। हालांकि घटना के बाद से वह फरार है। उसके स्वजनों पर पुलिस ने दबिश बढ़ाया है, ताकि वह समर्पण कर सके। हालांकि अधिकारिक रूप से अभी कुछ नहीं कहा जा रहा। नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने बताया कि सभी बिदुओं पर जांच के साथ आगे की कार्रवाई की जा रही है। जल्द ही अपराधियों को दबोच लिया जाएगा। बता दें कि शनिवार की देर रात मझौली धर्मदास स्थित दुकान बंद कर आभूषण कारोबारी रवि कुमार सोनी सादपुरा धनुका टोला अपने घर जा रहे थे। इसी क्रम में अतरदह में बाइक सवार अपराधियों ने लूटपाट के दौरान गोली मारकर उनकी हत्या कर दी थी।

-----

Edited By: Jagran