मुजफ्फरपुर, जेएनएन। अहियापुर में युवती को जिंदा जलाने की कोशिश करने में जेल भेजे गए दो के अलावा एक तीसरा युवक भी शामिल था। मामले में रिमांड किए गए मुख्य आरोपित राजा राय और मुकेश से की गई पूछताछ में इसकी जानकारी हुई है। अब पुलिस तीसरे युवक की खोज कर रही है। हालांकि, अबतक की जांच के दौरान जो बातें सामने आई हैैं, उनमें राजा और मुकेश ही इस घटना में शामिल बताए गए हैैं। अब तीसरे युवक की भूमिका घटना में क्या थी और घटना के वक्त वह कहां था, इस तथ्य को लेकर पुलिस की टीम जांच कर रही है। बताया गया है कि तीसरे युवक की भी खोज की जा रही है।

सीसी कैमरे का फुटेज और सीडीआर भी संलिप्तता का आधार

पुलिस इस पूरे घटनाक्रम को लेकर विभिन्न जगहों पर लगे सीसी कैमरों का फुटेज देख चुकी है। साथ ही आरोपितों के मोबाइल का कॉल डिटेल रिपोर्ट भी चेक किया गया है। अबतक की जांच में तीसरे युवक का नाम सामने नहीं आया था। लेकिन, राजा के बयान के बाद इस मामले में पुलिस कार्रवाई एक बार फिर तेज हुई है।

पूछताछ के बाद भेजे गए जेल

चौबीस घंटे की रिमांड अवधि समाप्त होने के बाद रविवार को पुलिस ने दोनों को पूछताछ के बाद जेल भेज दिया। बता दें कि कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस ने राजा और मुकेश को रिमांड पर लिया था।

यह है घटनाक्रम

अहियापुर थानाक्षेत्र के एक गांव में सात दिसंबर की शाम एक युवती को पड़ोसी युवक ने जिंदा आग के हवाले कर दिया। तत्काल उसे शहर के एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया। वहां से आठ दिसंबर को चिंताजनक स्थिति में वह एसकेएमसीएच पहुंची। यहां दो दिनों तक चली चिकित्सा के बाद हालत स्थिर होने पर उसे बेहतर इलाज के लिए 10 दिसंबर को पटना ले जाया गया था। लगातार उसे बचाने की कोशिश चल रही थी। लेकिन, 16 दिसंबर को उसने दम तोड़ दिया था। इस बीच पुलिस ने राजा राय को घटना के तत्काल बाद गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। दूसरे आरोपित मुकेश ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। इसके बाद पुलिस ने राजा को रिमांड पर लेने का आदेश कोर्ट से प्राप्त किया था।

इस बारे में नगर पुलिस उपाधीक्षक रामनरेश पासवान ने कहा कि इस मामले में दोनों आरोपितों से पूछताछ की गई। इस दौरान कई बातें सामने आई हैैं। सभी का सत्यापन किया जा रहा है।

 

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस