मुजफ्फरपुर, जेएनएन। एलएस कॉलेज में एंटी रैगिंग सेल का पुनर्गठन किया गया है। यह कॉलेज परिसर में छात्रों की गतिविधियों की निगरानी करेगा और प्रतिदिन इसकी रिपोर्ट प्राचार्य को सौंपेगा। डॉ.ओपी रमण इसके संयोजक बनाए गए हैं। इसमें डॉ.एनएन मिश्रा, डॉ.प्रमोद कुमार, डॉ.जयकांत जय व डॉ. गोपालजी को सदस्य बनाया गया है। प्राचार्य ओपी राय की अध्यक्षता में बैठक में यह निर्णय लिया गया। गुरुवार को प्राचार्य कक्ष में बैठक में कॉलेज के सभी विभागाध्यक्ष शामिल थे। इस दौरान और भी कई निर्णय लिए गए। 

नैक की तैयारी को दिए विशेष निर्देश

कॉलेज के नैक मूल्यांकन को लेकर बैठक में कई निर्णय लिए गए। सभी विभागाध्यक्षों को निर्देश दिए गए कि हर महीने विभागीय सेमिनार, कार्यशाला व राष्ट्रीय सेमिनार करें। नैक की सभी कमेटियां प्रतिदिन गंभीरता से इसकी तैयारी में समय दें। प्रतिदिन विभागीय कार्रवाई, वर्ग संचालन, शैक्षिक गतिविधियों का दस्तावेज तैयार करेंगे। पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से शिक्षक वर्ग संचालित करेंगे एवं उनके लेक्चर की सीडी की शृंखला नैक टीम के निरीक्षण के लिए संरक्षित की जाएगी। सभी वोकेशनल कोर्स में हर 15 दिनों पर विभागीय सेमिनार व कार्यशाला होगी। प्रतिदिन सभी शिक्षकों के लेक्चर का डाक्यूमेंटेशन होगा व सभी छात्रों उपस्थिति की रिपोर्ट प्राचार्य के पास जमा होगी।

वर्ग में छात्रों की उपस्थिति अनिवार्य, प्राचार्य की कमेटी करेगी मॉनीटरिंग

वर्ग में छात्रों की उपस्थिति अनिवार्य कर दी गई है। इसकी मॉनीटरिंग प्राचार्य की कमेटी करेगी। 75 फीसद से कम उपस्थिति वाले छात्रों को परीक्षा फॉर्म भरने से वंचित कर दिया जाएगा। छात्रों की शैक्षिक व कॉलेज परिसर में उनकी अन्य गतिविधियों की सूचना उनके अभिभावकों को भेजी जाएगी।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ajit Kumar