मुजफ्फरपुर : पुलिस जहां शराबियों को पकड़ने के लिए छापेमारी करती है। वहीं ब्रह्मपुरा थाना में एक अजीबोगरीब घटना घटी। एक व्यक्ति शराब की बोतल लेकर थाना में पहुंच गया और ओडी (ऑफिसर ऑन ड्यूटी) पर तैनात सहायक अवर निरीक्षक जमादार लक्ष्मण राम से बोला कि उसे जेल जाना है। ओडी ऑफिसर को पहले तो मानसिक असंतुलित लगा, लेकिन जब उससे पूछताछ की तो वह शराबी निकला। हालांकि उसने जेल जाने का कारण नहीं बताया। पूछताछ में उसने शराब बिक्री के अड्डे की जानकारी भी दी। ओडी ऑफिसर ने उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।

बताते हैं कि जमादार लक्ष्मण राम थाने पर ओडी ड्यूटी पर थे। उसी समय जूरन छपरा रोड नंबर-चार डेरा गांव निवासी सुनील रजक शराब की एक बोतल लेकर वहां पहुंचा। उसने शराब की बोतल दिखाते हुए कहा कि वह जेल जाना चाहता है। बताया कि भगवानपुर से शराब की बोतल खरीदी है। उसकी निशानदेही पर वहां छापेमारी की गई, लेकिन वहां शराब का धंधेबाज नहीं मिला। इसके बाद शराब की बोतल जब्त कर उसे गिरफ्तार कर लिया। उसे विशेष कोर्ट के समक्ष पेश किया गया। जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। थानाध्यक्ष विश्वनाथ राम ने बताया कि उसे शराब बेचने वाले धंधेबाज की पहचान की जा रही है।

दो सौ लीटर स्प्रिट के साथ गिरफ्तार मोतीपुर पुलिस ने छापेमारी के दौरान गुरुवार की रात थाना क्षेत्र के कोदरकट्टा गाव से एक ड्राम में रखी 200 लीटर कच्ची स्प्रिट के साथ धंधेबाज गोपाल चौधरी को गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान बड़ी संख्या में शराब की खाली बोतलें भी बरामद हुईं। थानाध्यक्ष अनिल कुमार ने बताया कि गोपाल चौधरी के खिलाफ उत्पाद अधिनियम के तहतं मामला दर्ज कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021