मुजफ्फरपुर। एलएस कॉलेज में बीएमसी विभाग एवं स्वतंत्र मीडिया नेटवर्क के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय फिल्म मेकिंग वर्कशॉप का रविवार को समापन हो गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रति कुलपति डॉ. रवींद्र कुमार ने मीडिया को समाज का आईना बताया। कहा कि कोरोना काल जैसी वैश्रि्वक घड़ी में भी मीडिया की भूमिका सराहनीय है। उन्होंने एलएस कॉलेज के पत्रकारिता में स्नातकोत्तर की पढ़ाई शुरू होने की जानकारी दी। विशिष्ट वक्ता सीसीडीसी डॉ.अमिता शर्मा ने एलएस कॉलेज में पीजी पत्रकारिता विभाग खोलने की बात कही। प्राचार्य जल्द ही इसके लिए प्रस्ताव बनाकर देंगे।

अपर समाहर्ता आपदा अतुल प्रसाद वर्मा ने एलएस कॉलेज को ऐतिहासिक बताते हुए सरकारी सहायता कराने की बात कही। मीडिया विभाग प्रपोजल बनाकर दे तो इसे सूचना जनसंपर्क विभाग से आíथक मदद मिलेगी। इतिहास विभाग के अध्यक्ष डॉ.गजेंद्र कुमार आदि ने भी संबोधित किया। प्राचार्य ने सभी अतिथियों का स्वागत किया और मीडिया नेटवर्क के सभी पदाधिकारियों को फिल्म वर्कशॉप संपन्न कराने के लिए बधाई दी। उन्होंने बताया कि सूचना जनसंपर्क विभाग एवं भारत सरकार के सहयोग से एलएस कॉलेज में फिल्म निर्माण सेंटर खुलेगा, जहा डॉक्यूमेंट्री एवं फीचर फिल्म निर्माण का कार्य होगा। गाधीजी, डॉ. राजेंद्र प्रसाद, लंगट बाबू व आचार्य कृपलानी के जीवन पर भी डॉक्यूमेंट्री फिल्म बनाई जाएगी। मीडिया टीम में शामिल जगमोहन प्रसाद, स्नेहिल शरण, डायरेक्टर किसलय सहाय, को-ऑíडनेटर अभिजीत आनंद व सुशात शरण, वरिष्ठ पत्रकार एवं फिल्म विशेषज्ञ सीबी सुदर्शन एवं अभिनंदन कुमार को प्राचार्य डॉ. ओपी राय ने सम्मानित किया। इस दौरान छात्रों को भी सर्टिफिकेट दिए गए। फिल्म वर्कशॉप में वेद प्रकाश अग्रवाल, डॉ. गजेंद्र कुमार, डॉ. टीके डे, डॉ. सुरेंद्र राय, डॉ. शिव दीपक शर्मा, डॉ. ललित किशोर, डॉ.सतीश कुमार, डॉ. वीरेंद्र कुमार सिंह, डॉ. प्रमोद कुमार, डॉ. ललन शर्मा सहित कॉलेज के शिक्षक व कर्मचारी मौजूद थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप