समस्तीपुर, जासं। केंद्र सरकार के कर्मचारी विरोधी दमनात्मक नीति के विरोध में अखिल भारतीय डाक कर्मचारी संघ के आह्वान पर बुधवार को डाक विभाग में कार्य बाधित रहा। प्रधान डाकघर के मुख्य द्वार पर डाक कर्मियों ने धरना दिया। ग्रामीण डाक सेवक द्वारा डाक मित्र योजना, कॉमन सर्विस सेंटर के नाम पर डाक विभाग को निगमीकरण की ओर ले जाने, डाकघर के पीओएसबी योजनाओं एवं सीईपीटी के हस्तानान्तरण आदि को इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के नियंत्रण में करने की योजना, नई पेंशन योजना को हटाकर पुरानी पेंशन योजना लागू करने, रिक्त पदों को भरने, पोस्टमैन, मेल गार्ड, एमटीएस को परीक्षा में 50 प्रतिशत कोटा प्रदान करने की मांग की गई। 

उच्च वेतन प्रदान करने की मांग

इसके साथ 18 महीने के डीए बकाया का भुगतान करने, उनकी उच्च योग्यता एवं एसएससी के बदले विभागीय परीक्षा के आधार पर उच्च वेतन प्रदान करने की मांग की गई। मौके पर संजय झा, मृत्युंजय कुमार, संतोष कुमार झा, दिलीप कुमार, अभिषेक कुमार मिश्र, संजीव कुमार, संजीव कुमार, ओम प्रकाश सिंह, अरुण कुमार सिंह, संजीव झा, जितेंद्र कुमार, राजीव कुमार सिंह, नवीन प्रकाश, सुरेंद्र कुमार, कौशल कुमार, आशुतोष कुमार, मंजू कुमारी, बैजनाथ पासवान, प्रभात रंजन, कुमार धीरज, पंकज कुमार, पंकज मिश्र, शंभू साह, चंद्र भूषण कुमार, मधुसूदन कुमार, मुकेश कुमार, मनोज कुमार रजक, शिवशंकर पासवान, बालेश्वर पासवान, रजनीकांत गिरी, राजीव कुमार मिश्र, रतीश चंद्र चौधरी आदि उपस्थित रहे। 

Edited By: Ajit Kumar