मुजफ्फरपुर, जेएनएन। अहियापुर - अखाड़ाघाट रोड में 17 जनवरी की रात हुई साधुगाछी शेखपुर निवासी पेशकार अरविंद शरण के पुत्र विनीत कुमार उर्फ शानू हत्याकांड में पुलिस की टीम ने सोमवार को कई संदिग्ध ठिकानों को खंगाला। इस दौरान कई से पूछताछ की गई। नगर पुलिस उपाधीक्षक रामनरेश पासवान के नेतृत्व में चल रही छापेमारी के दौरान कई लोग हिरासत में लिए गए हैैं। जिनका सत्यापन किया जा रहा है। डीएसपी ने बताया कि आरोपितों की खोज की जा रही है। जल्द ही सभी हत्यारे गिरफ्तार कर लिए जाएंगे। 

 याद रहे कि विनीत कुमार उर्फ शानू को 17 जनवरी की रात करीब 10 बजे बाइक सवार नकाबपोश बदमाशों ने जीरो माइल-अखाड़ाघाट मार्ग में गोली मार दी थी। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश जीरोमाइल की ओर भाग निकले थे। स्थानीय लोगों के सहयोग से उसे एसकेएमसीएच लाया गया। जहां चिकित्सकों ने देखने के साथ उसे मृत घोषित कर दिया। वह सीतामढ़ी के नानपुर का मूल निवासी था। उसके पिता रोसड़ा कोर्ट में पेशकार हैं। घटना की बाबत शानू की मां रेखा शरण के बयान पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की है। 

पर्यवेक्षण गृह में पुलिस टीम ने की जांच, खंगाली गईं सूचनाएं 

अहियापुर थानाक्षेत्र में 17 जनवरी की रात हुई साधुगाछी शेखपुर निवासी पेशकार अरविंद शरण के पुत्र विनीत कुमार उर्फ शानू हत्याकांड की जांच में जुटी पुलिस टीम सोमवार को स्थानीय पर्यवेक्षण गृह भी पहुंची। टीम के अधिकारियों ने घंटे भर से ज्यादा यहां रुककर विभिन्न पहलुओं की जांच की। इस दौरान पता लगाया गया कि पर्यवेक्षण गृह में कुल कितने बच्चे हैैं। उनमें से कौन-कौन अवकाश पर हैैं? कब अवकाश पर गए हैैं? साथ ही यह भी जानकारी जुटाई गई कि कौन किस तरह के अपराध में लिप्त है। 

 बताते हैं कि पुलिस इस घटना को अंजाम देने में लिप्त शूटर की खोज कर रही है। घटना के तार जेल भी जुड़े होने की बात सामने आई है। ऐसे में सभी बिंदुओं की पड़ताल चल रही है। नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने बताया कि पर्यवेक्षण गृह में सामान्य जानकारी ली गई। जांच से जुड़ी बातें सार्वजनिक नहीं की जा सकती।  

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस