मुजफ्फरपुर। जंक्शन पर सोमवार को परदेस जाने वाले यात्रियों की भीड़ उमड़ पड़ी। प्लेटफॉर्म संख्या तीन पर आरपीएफ जवानों ने जनरल बोगी में चढ़ाने के लिए यात्रियों की कतार लगाई। इसी बीच आनंद विहार जाने वाली सप्तक्रांति एक्सप्रेस के आने पर लाइन तितर-बितर हो गई। इससे यात्रियों में भगदड़ मच गई। आरपीएफ जवान भी साइड में हो गए। सुविधा देने में वे विफल हो गए। जनरल बोगी में चढ़ने के लिए यात्रियों में धक्का-मुक्की हुई। इसमें कई यात्रियों को चोटें भी लगीं। वहीं, कई का बैग ट्रेन के नीचे गिर गया। जानकारी के अनुसार सोनपुर मंडल ने यात्रियों की भीड़ से निपटने के लिए 3 से 6 नंवबर तक अधिकारियों व निरीक्षकों की प्रतिनियुक्त की है। लेकिन, 3 व 4 नवंबर को प्रतिनियुक्त अधिकारी व निरीक्षक यात्रियों की मदद के लिए नहीं पहुंचे। कार्यालय से फोन पर कर्मियों से भीड़ का जायजा लेते रहे। ट्रेन की जनरल बोगी में यात्रियों को चढ़ाने में मदद करने नहीं पहुंचे। इससे सप्तक्रांति एक्सप्रेस, पवन एक्सप्रेस, मिथिला एक्सप्रेस, गोंदिया एक्सप्रेस, स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस समेत अन्य ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ रही। यात्रियों ने कहा कि लाइन लगी, लेकिन ट्रेन पर चढ़ने के समय टूट गई। एकाएक गेट पर भीड़ होने से धक्का-मुक्की हुई। इसमें चढ़ने का प्रयास करने पर कई लोग चोटिल भी हो गए।

ट्रेनों में टिकट नहीं, बस संचालक कर रहे मनमानी : छठ पूजा समाप्त होते ही प्रदेश जाने के लिए ट्रेनों में आरक्षित टिकट नहीं मिल रहा है। तत्काल के लिए भी मारामारी की नौबत है। ऐसे में निराश लोग बसों का सहारा ले रहे हैं। दिल्ली जाने वाली बसों में यात्रियों की भीड़ बढ़ गई है। ऐसे में हर दिन करीब तीन से चार दर्जन बसें बैरिया से दिल्ली के लिए खुल रही हैं। यात्रियों की भीड़ को देखते हुए कई बस संचालक यात्रियों से मनमाना किराया वसूल रहे हैं। दिल्ली जा रहे बोचहां के रामनरेश प्रसाद ने कहा कि तत्काल में भी टिकट नहीं मिला। इस लिए बस से जाना मजबूरी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप