मुजफ्फरपुर, जेएनएन। बाबा गरीबनाथ स्थान में जलाभिषेक करने के लिए आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा है। 'बोल बम के नाराें  का उद्घोष करते कांवर गीतों पर मगन हो झूमते-नाचते कांवरिये अब जलाभिषेक कर रहे हैं। बहुत यहां से अपने घर को लौट भी चुके हैं। मौसम भी शिवभक्तों का पूरा साथ दिया दे रहा है। इससे पहले कांवरियों का पहलेजा से बाबा नगरी पहुंचने का क्रम पूरी रात जारी रहा। इस दौरान उनका उत्साह देखते ही बनता था। जगह-जगह बजते कांवरिया गीत व भगवान शिव के भजन से उन्हें थकान या किसी भी प्रकार के कष्ट का जरा सा भी अहसास नहीं हो रहा था। दूसरी सोमवारी को लेकर पहलेजा से बाबा गरीबनाथ धाम के बीच कांवरियों की कतार टूटने का नाम नहीं ले रही थी। जगह-जगह कांवरिया पड़ावों में भी भीड़ थी। दिन ढलते ही मंदिर की ओर से जाने वाले कांवरियों की संख्या बढ़ती गई।

सुबह पांच बजे से शुरू हो गया जलाभिषेक 

बाबा गरीबनाथ पर जलाभिषेक का सिलसिला रविवार को सुबह पांच बजे से ही शुरू हो गया। दोपहर में करीब डेढ़ घंटे के लिए गर्भगृह के पट बंद किए गए। इसके बाद कांवरियों ने फिर गर्भ-गृह में जाकर बाबा का जलाभिषेक किया। संध्या समय कुछ देर के लिए जलाभिषेक रोका गया। सामूहिक शंखनाद और घंटे की ध्वनि के बीच शिव-गंगा आह्वान और करीब ग्यारह पंडितों द्वारा की गई आरती के बाद जलाभिषेक शुरू हो गया। मंदिर के पुजारी पं.आशुतोष पाठक उर्फ 'डाबर बाबा', संत अमरनाथ, पंडित अभिषेक पाठक, सन्नी पाठक, शिबू पाठक आदि पंडितों ने आरती की।

 इस दौरान बाबा के गर्भ-गृह से लेकर सिंह द्वार तक भक्तों का हुजूम रहा। मंदिर के सभी पंडित सामूहिक शंखनाद कर रहे थे। घंटे की ध्वनि भी गूंजती रही। इसमें संयोजक डॉ.संजय पंकज, मंदिर प्रशासक पंडित विनय पाठक, न्यास समिति सचिव एनके सिन्हा, पुरेंद्र प्रसाद, एपी शुक्ला, डॉ.इंदु सिन्हा, डॉ.गोपाल फलक व डॉ.अनिल धवन सहित मंदिर के सभी पुजारी और सैकड़ों भक्त शामिल हुए। इसके बाद कांवरियों ने अरघा के माध्यम से जलाभिषेक किए। जलाभिषेक में कोई परेशानी न हो, इसके लिए प्रशासन की ओर से पूरी तैयारी थी। मंदिर प्रबंधन की ओर से भी पर्याप्त स्वयंसेवकों की तैनाती रही। मंदिर प्रबंधन के मुताबिक देर रात तक डाक सहित करीब पैंतीस हजार कांवरियों ने बाबा को जल चढ़ाए।

श्रावणी मेले में खूब दिखी रौनक

श्रावणी मेले में भी खासी रौनक रही। कांवरियों ने बाबा को जल चढ़ाने के बाद मेले में प्रसाद आदि की खरीदारी की। उधर, रामदयालु कॉलेज परिसर में तरह-तरह के झूले भी लगाए गए थे। बच्चों संग युवाओं ने भी इसका आनंद लिया। महिलाओं ने खूब खरीदारी की। रामदयालु रोड, केदारनाथ रोड, छाता बाजार, सरैयागंज आदि जगहों पर भी तरह-तरह के खिलौने, प्रसाद आदि की दुकानें सजी थीं।

मार्ग में बेच रहे थे गुटखा, पुलिस ने हड़काया

कांवरिया मार्ग में बालबाबू की पोखरी के पास बीच रास्ते पर गुटखा बेच रहे कुछ युवकों को सिटी एसपी नीरज कुमार सिंह ने खूब हड़काया। इसके बाद उन लोगों ने दुकान समेट ली।

वाहनों पर भी दिखाई सख्ती

पुलिस अधिकारियों ने रविवार को दोपहर बाद कांवरिया मार्ग में छोटे-बड़े सभी वाहनों के परिचालन पर सख्ती दिखाई। उन्हें सकरी चौक से ही शहर की तरफ मोड़ दिया गया।

महाकाल की झांकी ने मोहा मन

हरिसभा चौक पर सेवा समिति की ओर से लगाई गई महाकाल की झांकी लोगों में आकर्षण का केंद्र बनी रही। यहां बाबा बर्फानी के दर्शन भी हुए।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस