समस्तीपुर, जेएनएन। उजियारपुर सांसद और गृहराज्य मंत्री नित्यानंद राय ने बुधवार की सुबह बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लिया। मोहनपुर, मोहिउद्दीननगर और विद्यापतिनगर के प्रभावित इलाकों में लोगों से बातचीत की। साथ ही, गंगा-तटबंध को भी देखा। उन्होंने अधिकारियों को बाढ़ प्रभावित इलाके के लोगों के लिए राहत एवं बचाव कार्य में तत्पर रहने का निर्देश दिया। पशु चारा और बच्चे-बुजुर्गों की विशेष देखभाल रखने को कहा। पीड़िताें के लिए चल रहे सामुदायिक रसोईघर में बच्चों को दूध मिल रहा है या नहीं, इसे सुनिश्चित करने को भी कहा।

गौरतलब है कि गंगा का जलस्तर बढ़ने से इन क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति नाजुक हो गई है। तरसोआ यानी पातालगंगा से अत्यधिक पानी ऊपर आने के कारण धरणीपट्टी पूर्वी पंचायत के कई वार्ड जलमग्न हो गए हैं। मुखिया अजय कुमार सिंह उर्फ गुगुल का कहना है कि गंगा तट पर बनाए गए कटावनिरोधी बंडाल सह बांध के दक्षिण धरातल से गंगा का जलस्तर काफी ऊपर हो जाने के कारण उत्तर दिशा की ओर तटवर्ती क्षेत्र में पानी तरसोआ के माध्यम से फैल गया और बाढ़ की स्थिति पैदा कर दी है। लोग अपने घर को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर शरण लिए हुए हैं। वार्ड संख्या चार, पांच और छह के फसलें भी बर्बाद हो गई है। इस जलप्लावन में बीते दिन हुई बारिश के पानी का काफी सहयोग रहा है। बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल दलसिंहसराय के सरारी कैंप पर प्रतिनियुक्त कनीय अभियंता जितेश रंजन ने बताया कि गंगा जलस्तर खतरे के लाल निशान से 165 सेमी ऊपर है। हालांकि, पिछले छह घंटों में जलस्तर में वृद्धि होते हुए नहीं देखा जा रहा है। सोन नदी द्वारा लगातार पानी छोड़ा जा रहा है। लेकिन, फरक्का के सभी दरवाजे खुले होने के कारण जलस्तर में जितनी वृद्धि होनी चाहिए, वह नहीं हो रही है।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस