मुजफ्फरपुर, जेएनएन। हार्डकोर नक्सलियों की सहयोगी व ईंट-भट्ठा में विस्फोट की आरोपित रेखा उर्फ जानकी को पुलिस ने जिला जज के विशेष कोर्ट में पेश किया। वहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया। मीनापुर थाना क्षेत्र के मीनापुर सेंटर निवासी रेखा को शुक्रवार को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उस पर छह साल पहले कुढऩी थाना के जगन्नाथपुर गांव के ईंट-भट्ठा पर हमला करने वाले नक्सलियों में शामिल होने का आरोप है।

रामप्रवेश सहित अन्य हार्डकोर की सहयोगी

 रेखा पर बड़े नक्सली कमांडर की सहयोगी होने का आरोप है। वह स्पेशल एरिया कमांडर रामप्रवेश बैठा, त्रिभुवन सहनी, रोहित सहनी, अनिल राम, रविंद्र सहनी व गोविंद सहनी के साथ मिलकर कई नक्सली वारदात में शामिल रही है। उसकी गिरफ्तारी पुलिस के लिए बड़ी सफलता मानी जा रही है।

ईंट-भट्ठा पर हमले में शामिल होने का आरोप

 कुढऩी थाना के जगन्नाथपुर गांव में 17 अप्रैल 2013 को ईंट भ_ा पर हुए नक्सली हमले में रेखा के शामिल होने का आरोप है। र्इंट भ_ा संचालक वैशाली जिले केगारौल थाना केराम लगन राय ने कुढऩी थाने में केस दर्ज कराया था। इसमें कहा था कि 15-20 की संख्या में आए हथियार बंद नक्सलियों ने चिमनी को बम विस्फोट कर उड़ा दिया। नक्सलियों ने कर्मचारियों व मजदूरों के साथ मारपीट की। घटना का कारण लेवी नहीं देना बताया गया। इस मामले में रेखा अप्राथमिकी अभियुक्त बनाई गई। उसे सरैया के जैतपुर ओपी क्षेत्र में 24 अक्टूबर को हुए नक्सली हमले और सकरा में 5 अगस्त 2016 को हुई नक्सली वारदात में भी अप्राथमिकी अभियुक्त बताया गया है। उससे पूछताछ से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस टीम मुजफ्फरपुर और वैशाली जिले के सक्रिय नक्सलियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ajit Kumar