मुजफ्फरपुर/समस्तीपुर, जासं। उत्तर बिहार में अगले कुछ दिनों तक आसमान प्राय: साफ रहेगा। इस दौरान मौसम के शुष्क रहने का अनुमान है। डा. राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के मौसम विभाग ने यह बात कही। अगले 1 नवंबर तक के लिए जारी मौसम पूर्वानुमान में कहा है कि पूर्वानुमान की अवधि में उत्तर बिहार के जिलों में आसमान प्राय : साफ तथा मौसम के शुष्क रहने का अनुमान है। इस दौरान दिन और रात के तापमान में गिरावट आने के साथ-साथ अधिकतम तापमान 29 से 31 डिग्री सेल्सियस तथा न्यूनतम तापमान 18 से 21 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का अनुमान है। सापेक्ष आर्द्रता सुबह में 70 से 80 प्रतिशत तथा दोपहर में 40 से 50 प्रतिशत रहने की संभावना है। औसतन 5 से 10 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से मुख्यतः पछिया हवा चलने का अनुमान है। 

दिन और रात के तापमान में आएगी गिरावट

मुजफ्फरपुर : मौसम में उतार-चढ़ाव जारी है। मंगलवार को सुबह से आसमान में बादल छाए रहे। सुबह में कहीं-कहीं कुहासा दिखा। मौसम पूर्वानुमान में बताया गया है कि अगले कुछ दिनों तक आसमान साफ रहेगा। इस दौरान मौसम शुष्क रहने का अनुमान है । डा. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विवि पूसा के मौसम विभाग के नोडल पदाधिकारी ए.सत्तार ने बताया कि एक नवंबर तक उत्तर बिहार के जिलों में दिन और रात के तापमान में गिरावट आएगी। अधिकतम तापमान 29 से 31 व न्यूनतम 18 से 21 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का अनुमान है। सापेक्ष आद्र्रता सुबह में 70 से 80 व दोपहर में 40 से 50 प्रतिशत रहने की संभावना है। औसतन पांच से 10 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से पछिया हवा चलने का अनुमान है । इस बीच मंगलवार का अधिकतम तापमान 30.8 व न्यूनतम 21.4 डिग्री सेल्सियस रहा। तापमान में गिरावट के साथ ही ठंड का एहसास होने लगा है ।

शिवहर जिले में बुधवार को एकबार फिर मौसम ने करवट ली। अलसुबह मौसम का मिजाज बदला नजर आया। मंगलवार की सुबह जहां इलाके में हल्के कोहरे ने दस्तक दी थी, वहीं बुधवार की सुबह मौसम साफ रहा। सुबह-सवेरे अच्छी धूप खिली। तापमान में वृद्धि से सुबह से ही गर्मी की धमक रही। हालांकि, 15 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा बहने के चलते राहत मिली। मौसम विभाग के अनुसार अब मौसम का मिजाज लगातार बदलता रहेगा। मौसम शुष्क रहेगा। दिन में गर्मी और रात सर्द रहेगी। अधिकतम तापमान 30 डिग्री और न्यूनतम तापमान 19 से 20 डिग्री तक रहेगा। इस दौरान शीतल हवा भी बहती रहेगी।

Edited By: Ajit Kumar