मुजफ्फरपुर, जेएनएन। सदर थाना के दीघरा गांव में तीन सितंबर की रात व्यवसायी के घर डकैती व पुत्री के अगवा का मामला यू टर्न लेता दिखाई दे रहा है। अब तक की जांच के आधार पर एसएसपी जयंतकांत ने दावा किया कि डकैती की घटना नहीं हुई थी। जांच में जो साक्ष्य मिले हैं उनमें किसी तरह की डकैती की घटना नहीं हुई है। घरवालों ने घटना के 24 घंटे के बाद जानकारी दी थी। एफएसएल जांच में भी डकैती की पुष्टि नहीं हुई है। 

दो आरोपितों को गिरफ्तार किया गया

प्राथमिकी में घरवालों ने जो मोबाइल नंबर दिया था, उसकी जांच में सबकुछ सामने आ गया है। राज्य महिला आयोग के समक्ष पेश होने के बाद एसएसपी पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने बताया कि इस मामले मे दो आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। शहर में बहुत तरह की अफवाहें चल रही हंै। इसको देखते हुए उन्हें यह जानकारी देनी पड़ी। उधर, जब इस मामले में अपहृता के पिता से मोबाइल पर संपर्क किया तो एसएसपी का दावा सुनते ही तल्ख अंदाज में मोबाइल रखो भाई कह कर कॉल काट दी।

जल्द मुक्त होगी लड़की, बयान पर आगे की कार्रवाई

एसएसपी ने कहा कि लड़की का अपहरण हुआ है। वह जिस व्यक्ति के साथ गई है। उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लड़की को मुक्त करा लिया जाएगा। उसके बयान पर आगे की कार्रवाई होगी। विदित हो कि इस मामले ने बहुत जल्द ही राजनीतिक रूप धारण कर लिया। इसके बाद से पुलिस पर काफी दबाव बढ़ गया है। वहीं आए दिन कई राजनीतिक व सामाजिक संगठन अपहृत लड़की की बरामदगी के लिए दबाव बना रहे हैं।  

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस