मुजफ्फरपुर, जासं। मुजफ्फरपुर के पारू से पर‍िणाम आने लगे हैं। रीना देवी मुखिया निर्वाचित, निवर्तमान मुखिया तीसरे स्थान पर, धरफरी से आनंद कुमार मुखिया निर्वाचित, मुहब्बतपुर से निलू कुमारी जीतीं, निवर्तमान मुखिया तीसरे स्थान पर, पारू प्रमुख रीता देवी पराजित, रेखा गुप्ता ने 134 मतों से किया पराजित, समिति संख्या चार से वीणा देवी निर्वाचित धरफरी, बजरंग दल के जिलाध्यक्ष सिपाही प्रसाद भक्त की पतोहू रीना कुमारी ने शायरा बेगम को पराजित कर मुखिया निर्वाचित हुई है। नेकनामपुर पंचायत से निवर्तमान मुखिया रौशन कुमार को कुन्दन कुमार ने क‍िया पराज‍ित पराजित। 

पारू की 13 पंचायतों में 10 नए मुखिया

प्रखंड की13 पंचायतों के मुखिया पद के घोषित परिणाम में तीन पुराने चेहरे को छोड़ 10 पुराने मुखियों को पराजय का मुंह देखना पड़ा। घोषित परिणाम के मुताबिक चांदकेवारी पंचायत से रीना कुमारी ने निकटतम प्रतिद्वंदी शायरा बेगम को, धरफरी के आनंद कुमार ने अपनी मां की कुर्सी बचाते हुए लालती देवी को पराजित किया। जबकि मुहब्बतपुर से नीलू कुमारी ने गीता सहनी को पांच सौ वोटों से पराजित कर दिया। निवर्तमान मुखिया गुडिय़ा कुमारी तीसरे स्थान पर रही। नेकनामपुर पंचायत से कुंदन कुमार ने निवर्तमान मुखिया रौशन कुमार, उस्ती से आशा देवी ने निवर्तमान मुखिया मंजू देवी, पंदेय से ममता देवी ने निवर्तमान मुखिया उषा रानी, बैजलपुर से कन्हाई साह ने मो. अनवर, चक्की सुहागपुर से चंदन कुमार ने निवर्तमान मुखिया बिटटू कुमार सिंह, फतेहाबाद से मनोज कुमार ने निवर्तमान मुखिया सुनीता भारती, कटारू से बेबी देवी ने निवर्तमान मुखिया प्रभा देवी को काफी मतों के अंतर से पराजित कर दिया। ग्यासपुर से पूर्व मुखिया गायत्री सिंह ने निवर्तमान मुखिया प्रमोद कुमार सिंह, खुटाही से रवि कुशवाहा ने अमृता सिंह को हराया। वहीं, जयमल डुमरी से नईमा खातून ने सुरेश प्रसाद सिंह को पराजित कर अपनी कुर्सी बचा ली।

पुलिस पर हमले के आरोपित की बहू बनीं मुखिया

बजरंग दल के जिलाध्यक्ष व दशहरा पर आयोजित बली मेले के दौरान पुुलिस पर हमला करने के आरोपित सिपाही भक्त की बहू रीना कुमारी ने शायरा बेगम को पराजित कर चांदकेवारी पंचायत के मुखिया पद पर कब्जा जमा लिया। निवर्तमान मुखिया गुडिय़ा कुमारी तीसरे स्थान चली गईं। चुनाव के दौरान ही पुलिस की दबिश को देखते हुए रीना के ससुर सिपाही भक्त कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया था और उसके बाद बहू रीना जनता का आशीर्वाद लेने गांव- गांव की खाक छानने लगी और जनता ले प्यार से उसे पंचायत के विकास की कमान सौंप दी। सिपाही भक्त पेशे से टेंट संचालक का काम कर परिवार का भरण-पोषण कर रहे हैं।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh