Move to Jagran APP

Muzaffarpur Boiler Blast: बिना कोर्ट की अनुमति से फैक्ट्री मालिक के विदेश जाने पर रोक

Muzaffarpur Boiler Blast विदेश जाने के लिए विकास मोदी को कोर्ट से लेनी होगी लिखित अनुमति। जांच में पुलिस और अन्य एजेंसियों को करना होगा सहयोग। पिछले साल 26 दिसंबर को हुए हादसे में सात लोगों को हो गई थी मौत। एक दर्जन से अधिक घायल हो गए थे।

By Ajit KumarEdited By: Sat, 05 Mar 2022 10:55 AM (IST)
Muzaffarpur Boiler Blast: अग्रिम जमानत देने के क्रम में जिला जज के कोर्ट ने लगाई शर्त।

मुजफ्फरपुर, जासं। Muzaffarpur Boiler Blast: बेला औद्योगिक क्षेत्र के फेज-दो स्थित नूडल्स फैक्ट्री के मालिक विकास मोदी के विदेश जाने पर कोर्ट ने रोक लगा दी है। उसे बायलर हादसे की जांच पूरी होने तक पुलिस व अन्य जांच एजेंसियों को सहयोग करना होगा। जिला जज मनोज कुमार सिन्हा के कोर्ट ने उसकी अग्रिम जमानत की अर्जी स्वीकार करते हुए यह शर्त लगाई है। 

विदेश जाने को लेनी होगी अनुमति

विदेश जाने के लिए विकास मोदी को कोर्ट से अनुमति लेनी होगी। कोर्ट से लिखित अनुमति मिलने पर ही वे विदेश जा सकेंगे। विकास मोदी व उसकी पत्नी श्वेता मोदी की अर्जी पर सुनवाई के बाद जिला जज के कोर्ट ने 18 फरवरी को अग्रिम जमानत दे दी थी। इसके बाद गुरुवार को न्यायिक दंडाधिकारी के कोर्ट में पति-पत्नी ने सरेंडर किया। 10 हजार के बंधपत्रों के साथ दो-दो जमानतदारों के पेश करने पर कोर्ट ने रिहा कर दिया।

बायलर के प्रयोग में चूक से हुआ हादसा

जांच में यह बात सामने आई है कि पिछले साल 25 मई को इंस्पेक्टर ने बायलर इस्तेमाल के लिए लाइसेंस दिया था। यह 28 मई 2022 तक प्रभावी था। कागजात में त्रुटियों से बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बायलर के प्रयोग की अनुमति नहीं दी थी। जांच में यह भी बात सामने आई है कि बायलर के प्रयोग में चूक के कारण यह हादसा हुआ।

हादसे में सात कर्मियों की हुई थी मौत

पिछले साल 26 दिसंबर की सुबह बेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित नूडल्स फैक्ट्री का बायलर फट गया था। इस हादसे में नूडल्स फैक्ट्री के पांच व बगल के चूड़ा मिल के दो कर्मियों की मौत हो गई थी। वहीं, दर्जनभर कर्मी घायल हो गए थे। इस संबंध में बियाडा के क्षेत्रीय प्रभारी प्रशांत कुमार श्रीवास्तव ने फैक्ट्री मालिक विकास मोदी, उसकी पत्नी श्वेता मोदी, मैनेजर उदयशंकर, सुपरवाइजर राहुल कुमार व दिविजय सिंह के विरुद्ध बेला थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। मैनेजर उदयशंकर की ओर से जिला जज के कोर्ट में दाखिल अग्रिम जमानत की अर्जी पर फिलहाल सुनवाई चल रही है। इसकी सुनवाई की अगली तिथि 23 मार्च तय है।