पश्चिम चंपारण, जेएनएन। नरकटियागंज थाना क्षेत्र के अजुआ कौलाची टोला में मंगलवार दोपहर दहेज में बाइक के लिए एक विवाहिता और उसके दो मासूम बच्चों को ङ्क्षजदा जलाकर मार डाला गया। इसकी सूचना से सनसनी फैल गई। घटना से लोग स्तब्ध रह गए। सूचना पर शिकारपुर पुलिस ने चिता से अधजले शवों को बरामद किया। आरोपित घर छोड़कर फरार हैं। मृतकों में ललिता देवी ( 25), उसकी पुत्री सलोनी कुमारी (3) और पुत्र हिमांशु कुमार (1) हैं। 

छह साल पहले हुई थी शादी

बताया गया कि घटना के दौरान दोनों बच्चे पलंग पर मां की गोद में सो रहे थे। आरोपितों ने तीनों को चिता पर पहुंचाने तक गोपनीयता रखी। महिला रामनगर थाना क्षेत्र के डैनमरवा गांव निवासी रामचंद्र यादव की बेटी थी। उसकी शादी वर्ष 2014 में शिकारपुर थाना क्षेत्र के कौलाची टोला निवासी धनीलाल यादव से हुई थी। 

अपाची बाइक के लिए कर रहे थे प्रताडि़त

ललिता के भाई कृष्णा बेदर्दी ने बताया कि दहेज में अपाची बाइक के लिए बहन को पिछले दो वर्षों से प्रताडि़त किया जा रहा था। इसी वजह से ससुराल वालों ने तीनों को ङ्क्षजदा जला दिया। हत्यारोपित  और अन्य लोग गांव के पास बावड़ नदी के किनारे झाड़ी में शवों को जला रहे थे।  इसी दौरान पुलिस को सूचना दी। पुलिस पहुंची तो आरोपित चिता पर जलते शवों  को छोड़कर भाग निकले। घटना में ललिता के पति धनीलाल यादव, छोटे भाई बीरबल यादव, सास व अन्य को आरोपित किया है।

इस बारे में नरकटियगंज ( प. चंपारण) के एसडीपीओ सूर्यकांत चौबे ने बताया कि चिता से शवों को बरामद किया गया है। महिला के भाई का बयान दर्ज किया गया है। उसके घर में जले बिछावन व अन्य अवशेष मिले हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस