मुजफ्फरपुर, जेएनएन। शहरी आबादी और स्लम बस्तियों में टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए मॉडल टीकाकरण कॉर्नर बनकर तैयार हैं। गर्भवती महिलाओं एवं शिशुओं को यहां सुबह 10 बजे से रात आठ बजे तक टीके दिए जाएंगे। अभी सदर अस्पताल में दिन के दो बजे दिन तक ही टीका दिया जा रहा है।

स्वास्थ्य की दशा को सुधारने के उद्देश्य से अघोरिया बाजार, लक्ष्मी चौक, बालू घाट और चतुर्भुज स्थान शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंदों पर मॉडल टीकाकरण केंद्र की स्थापना की गई है। यहां हैपेटाइटिस के दूसरे चरण, पोलियो, निमोनिया, डीपीटी सहित रोटा वायरस जैसे टीके दिए जाएंगे।

स्लम बस्तियों तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाना लक्ष्य

सिविल सर्जन डॉ. एसपी सिंह ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों की अपेक्षा शहरी क्षेत्रों में टीकाकरण की संख्या कम है। राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन का मुख्य उद्देश्य शहरी, खासकर स्लम बस्तियों में रहने वालों को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराना है। गर्भवती महिलाओं और बच्चों पर विशेष ध्यान देना है। अभी चार जगहों पर काम पूरा कर लिया गया है। जल्द ही वहां नर्स और चिकित्सक की नियुक्ति हो जाएगी।

दिया गया है अलग रूप-रंग

टीकाकरण कार्नर को पूरी तरह से आधुनिक डिज़ाइन देने की कोशिश की गई है, जो परंपरागत रंगों से भिन्न है । यहां पेंडेंट लाइट्स के साथ एलईडी भी लगाए गए हैं। वहीं टीकाकरण के फायदों को बोर्ड के द्वारा भी बताया गया है। टीकाकरण कराने आए लोगों के लिए घूमने वाले स्टूल की भी व्यवस्था है।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस