दरभंगा, [संजय कुमार उपाध्याय] । दरभंगा एयरपोर्ट के विकास को लेकर एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया गंभीर है। इसके लिए राज्य सरकार और भारतीय वायु सेना से समन्वय स्थापित कर लगातार विकासात्मक कार्यों को किया जा रहा है। इसके तहत मौजूदा टर्मिनल भवन के विस्तार के साथ-साथ नए सिविल एनक्लेव की स्थापना की भी कवायद तेज हो गई है। एएआई के अध्यक्ष संजीव कुमार ने कहा है कि दरभंगा एयरपोर्ट के लिए मास्टर प्लान तैयार कर लिया गया है। एएआई, एयरफोर्स और राज्य सरकार के साथ मिलकर योजनाओं को क्रियान्वित करने में लगा है। समय रहते विकास के कार्य पूरे किए जाएंगे।

मौजूदा टर्मिनल भवन का होगा विस्तार

एयरपोर्ट के विकास को लेकर दरभंगा के सांसद गोपालजी ठाकुर की ओर से एयरपोर्ट अथारिटी ऑफ इंडिया को लिखे गए पत्र के जवाब में एएआई के अध्यक्ष संजीव कुमार ने बताया है कि - एयरपोर्ट को जल्द से जल्द चालू करने के लिए भारतीय वायु सेना की उपलब्ध सीमित भूमि में एक अंतरिम टर्मिनल बिङ्क्षल्डग और एप्रन बनाया गया। 8 नवंबर 2020 को इसे नागरिक विमानों के लिए चालू कर दिया गया। मौजूदा टर्मिनल भवन के विस्तार के लिए भी इसके पास ही भारतीय वायु सेना से 2.2 एकड़ जमीन प्राप्त करने की भी कोशिश की जा रही है। यात्रियों के लिए टर्मिनल बिङ्क्षल्डग के सिटी साइड में मूलभूत सुविधाएं टॉयलेट के साथ वेङ्क्षटग शेड, वेङ्क्षटग शेड से टर्मिनल बिङ्क्षल्डग तक वाहन की सुविधा और मेन गेट से टर्मिनल बिङ्क्षल्डग तक कवर्ड रोड की सुविधा आदि को भी राज्य सरकार, भारतीय वायु सेना और एयरलाइंस के साथ मिलकर शुरू करने के लिए संज्ञान में लिया गया है। यह भी शीघ्र बहाल हो जाएगा।

सिविल एनक्लेव के साथ-साथ कार्गों सुविधाओं के लिए राज्य सरकार द्वारा चयनित भूमि उपयुक्त

एएआई के अध्यक्ष ने स्पष्ट किया है कि एक लंबी अवधी योजना के रूप में दरभंगा हवाई अड्डे के लिए पर्याप्त पार्किंग और शहर की तरफ एक बड़े टर्मिनल भवन की आवश्यकता होगी। परिचालन दक्षता बढ़ाने के लिए परिचालन के क्षेत्र में कैट-आई एप्रोच लाइट लगाना होगा। इसके लिए बिहार सरकार से भूमि प्रदान करने के लिए अनुरोध किया गया ताकि सभी यात्री सुविधाओं से संपन्न एक स्थाई सिविल एनक्लेव के साथ-साथ कार्गो सुविधाएं भी बनाई जा सके।

हाल में राज्य सरकार ने एनएच-57 से सटे स्थाई सिविल एनक्लेव के लिए भूमि के एक टुकड़े की पहचान की थी। संबंधित भूमि की जांच एएआई की उच्च स्तरीय टीम ने की है। जमीन को सिविल एनक्लेव के लिए उपयुक्त पाया है। सिविल एनक्लेव के लिए 54 एकड़ भूमि का अधिग्रहण करने तथा एप्रोच लाइट््स की स्थापना के लिए 24 एकड़ जमीन प्रदान करने के लिए अनुरोध किया गया है, जो निशुल्क और सभी भार से मुक्त हो। दरभंगा एयरपोर्ट के लिए मास्टर प्लान तैयार कर लिया गया है। अन्य कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

-दरभंगा एयरपोर्ट के लिए 31 मार्च 2021 को एएआई के अध्यक्ष को पत्र लिखा था। जिसका सकारात्मक जवाब आया है। एयरपोर्ट के विकास को लेकर सरकार गंभीर है। शीघ्र ही इसके विकास के सभी काम कर लिए जाएंगे।

--गोपालजी ठाकुर सांसद, दरभंगा।