पश्चिम चंपारण,[ प्रभात कुमार मिश्र ] । बिहार ही नहीं पूरे देश के गाैरव अभिनेता मनोज बाजपेयी खास अभिनय शैली के जाने जाते हैं। उन्होंने बिहार के पश्चिम चंपारण जिला अंतर्गत गौनाहा प्रखंड के बेलवा गांव स्थित अपने पैतृक घर की तस्वीरें Instagram पर साझा की हैं। जिसका हाल में ही जीर्णोद्धार करने के बार रंग-रोगन किया गया है।

पास में ही है नेपाल


अपने पोस्ट में उन्होंने लिखा कि बाबूजी ने इसका जीर्णोद्धार करवाया है और अब यह चमक रहा है। कहा, मैं हमेशा इस पर गर्व महसूस करता हूं कि दुनिया के इस हिस्से में मैंने जन्म लिया। यहां से नेपाल चार किमी है। नदी, नहर, टाइगर रिजर्व, रेलवे ट्रैक, खाली मैदान भी पास में ही है। सर्दी में यहां अत्यधिक ठंड और गर्मी के दिनों में अधिक गर्मी पड़ती है। पहले से ही मैं गांव को बहुत मिस करता हूं। इस पोस्ट को बहुत अधिक लाइक और शेयर किया जा रहा है। मनोज फिलवक्त दिलजीत दोसांझ और फातिमा सना शेख के साथ फिल्म'सूरज पे मंगल भारी' की शूटिंग कर रहे हैं।

रंग-रोगन किया गया


देखें वीडियो :  मनोज बाजपेयी की मां गीता देवी ने क्या कहा 

मनोज बाजपेयी की मां गीता देवी कहती हैं कि करीब 26 साल पहले उनके पिता राधाकांत बाजपेयी ने इस मकान का निर्माण कराया था। डेढ़ माह पहले मकान में कुछ जरूरी निर्माण कराए गए। रंग-रोगन किया गया। ये लोग अधिकांशत: दिल्ली रहते हैं। खेती-किसानी और खास अवसर पर ही घर आना जाना-आना करते हैं। मनोज भी बहुत दिनों से यहां नहीं आए हैं। रामायण महतो विगत 25 वर्ष से इस घर की देखभाल कर रहे हैं।

देखें वीडियो :  मनोज बाजपेयी के घर की देखभाल करने वाले रामायण महतो ने क्या कहा 

गांव में ही आरंभिक शिक्षा

मनोज की आरंभिक शिक्षा बेलवा गांव में ही हुई। पांचवी कक्षा के बाद उन्हें जिला मुख्यालय बेतिया स्थित केआर स्कूल में पढ़ने के लिए भेजा गया था। उन्होंने यहां से मैट्रिक (10वीं) की परीक्षा पास की। इसके बाद बेतिया के एमजेके कॉलेज से इंटर की पढ़ाई पूरी की। इंटरमीडिएट के बाद मनोज ने दिल्ली के रामजस कॉलेज से 1989 में इतिहास (प्रतिष्ठा) में डिग्री ली। इसी दौरान अभिनय से जुड़ाव हुआ।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस