पटना [जेएनएन]। बिहार के चर्चित मुजफ्फरपुर शेल्टर होम (Muzaffarpur Shelter Home) यौन उत्‍पीड़न मामले में दिल्ली की साकेत कोर्ट (Saket Court) 14 जनवरी (मंगलवार) को बड़ा फैसला दे सकती है। इस मामले की जांच सीअीआइ (CBI) ने की है। इसके मुख्‍य आरोपित ब्रजेश ठाकुर (Brajesh Thakur) के रसूख को देखते हुए सु्प्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने मुकदमे को दिल्‍ली की साकेत कोर्ट में स्‍थानांतरित कर दिया था। साथ ही ब्रजेश को भी बिहार के बाहर जेल में रखा गया है।

क्‍या है मामला, जानिए

विदित हो कि टाटा इंस्‍टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस (TISS) की रिपोर्ट के बाद यह मामला सामने आया था। इसमें मुजफ्फरपुर शेल्टर होम की 40 लड़कियों से दुष्‍कर्म की बात उजागर हुई थी। कांड का मुख्‍य आरोपित शेल्टर होम का संचालक ब्रजेश ठाकुर है। इसके अलावा शेल्टर होम के कर्मचारी तथा बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग के अधिकारी भी आरोपित हैं। कुल 20 आरोपितों में आठ महिलाएं भी शामिल हैं। उनके खिलाफ दुष्‍कर्म, आपराधिक साजिश व आइपीसी की अन्य धाराओं के साथ पॉक्सो एक्‍ट भी लगाया गया है। दिल्‍ली की साकेत कोर्ट ने 20 मार्च 2018 को आरोप तय किए थे।

सुप्रीम कोर्ट की मॉनीटरिंग में हुई जांच

मुख्‍य अारोपित ब्रजेश ठाकुर के रसूख को देखते हुए जब सियासी बवाल मचा तो मामले की जांच सीअीआइ के हवाले कर दी गई। सुप्रीम कोर्ट की मॉनीटरिंग में जांच चली। सुप्रीम कोर्ट ने इस मुकदमे को भी बिहार से दिल्ली ट्रांसफर कर दिया। इसके बाद 23 फरवरी से दिल्‍ली की साकेत कोर्ट में इसकी नियमित सुनवाई चल रही है। सुप्रीम कोर्ट ने छह महीने में ट्रायल पूरा करने का निर्देश दिया था।

बहस पूरी, अब फैसले का दिन

मुकदमे में दोनों पक्षों की बहस पूरी हो चुकी है। अब मंगलवार को साकेत कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सौरभ कुलश्रेष्ठ मंगलवार को फैसला सुना सकते हैं।

ये हैं मुकदमे के अारोपित

- ब्रजेश ठाकुर

- गुड्डू कुमार पटेल

- किशन राम उर्फ कृष्णा

- रवि कुमार रोशन

- दिलीप कुमार वर्मा

- विकास कुमार

- डॉ. अश्विनी उर्फ आसमानी

- विजय कुमार तिवारी

- विक्की

- रामाशंकर सिंह

- रामानुज ठाकुर

- साइस्ता परवीन उर्फ मधु

- इंदु कुमारी

- रोजी रानी

- मंजू देवी

- मीनू देवी

- चंदा देवी

- किरण कुमारी

- हेमा मसीह

- नेहा कुमारी

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस