मुजफ्फरपुर। एलएस कॉलेज परिसर में स्थित गांधी कूप का सौंदर्यीकरण होगा। यहां गांधी जी के चंपारण यात्रा की झांकी की प्रदर्शनी लगेगी जिसमें कॉलेज के छात्रों की मुजफ्फरपुर स्टेशन से एलएस कॉलेज तक बग्घी खींचकर लाना आकर्षण का केंद्र होगा। इस योजना पर डीएम मो. सोहैल ने चर्चा की। वे विभागीय पदाधिकारियों के साथ यहां का निरीक्षण कर रहे थे। इस दौरान एलएस कॉलेज के प्राचार्य डॉ. ओपी राय भी थे। उन्होंने निर्देश दिया कि 2 अक्टूबर को गांधी जयंती पर कार्यक्रम आयोजन किया जाए। इस संबंध में भी तैयारी करने को कहा।

उल्लेखनीय है कि गांधी जी की चंपारण यात्रा और नील आंदोलन के शताब्दी समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गांधी कूप के सौंदर्यीकरण की घोषणा पिछले साल की थी।

गांधी कूप के सौंदर्यीकरण के तहत वहां उपवन विकसित किया जाएगा। इसके लिए वन विभाग से पौधरोपण कराया जाएगा। फूलों व फलों के पौधे लगाए जाएंगे। गांधी कूप पर बिजली की सजावट की जाएगी। पूरी तरह एलईडी बल्ब की रोशनी से जगमगा दिया जाएगा। कूप के इर्द गिर्द मार्बल लगाया जाएगा। कूप में बो¨रग का पानी भरा जाएगा। गांधी जी के विचारों को अंकित किया जाएगा। चंपारण यात्रा की जुड़ी यादों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। इसमें गांधी जी के स्थानीय वकीलों व गणमान्य लोगों से परामर्श, अंग्रेज प्रशासकों से वार्ता करने समेत अन्य महत्वपूर्ण घटनाक्रम की झांकी सजेगी।

बता दें कि अप्रैल 1917 में जब गांधी जी चंपारण यात्रा के क्रम में मुजफ्फरपुर आए थे, तब देर रात्रि में उनको एलएस कॉलेज परिसर लाने के लिए बग्घी आई थी। उस समय घोड़ा उपलब्ध न होने पर एलएस कॉलेज के ड्यूक हॉस्टल के छात्र ही अपने कंधे पर बग्घी खींचकर यहां लाए थे।

प्राचार्य ओपी राय ने एलएस कॉलेज मुख्य द्वार पर सुरक्षा के लिए विशेष प्रबंध करने का अनुरोध किया। कहा कि उनके स्तर पर प्रशासन को भरपूर सहयोग दिया जाएगा। डीएम ने कहा कि जल्दी ही निर्माण कार्य शुरू होगा। कूप के सौंदर्यीकरण व प्रदर्शनी का मुख्यमंत्री द्वारा उद्घाटन होगा।

Posted By: Jagran