मुजफ्फरपुर, जेएनएन। BRA Bihar University में रिजल्ट की गड़बड़ी कोई नई बात नहीं है। इस बार मामला स्नातक के पार्ट टू के विद्यार्थियों का है। परीक्षा अलग-अलग विद्यार्थियों ने दिया पर उनका रजिस्ट्रेशन नंबर और यहां तक उनका रौल नंबर भी एक हो गया। परीक्षा अवधि के दौरान यह मामला पकड़ में नहीं आया। क्योंकि परीक्षा विभाग का काम मैन्युअल होता है। रिजल्ट जारी होने के बाद यह मामला सामने आया। विवि के आंकड़ों के अनुसार अबतक 2130 विद्यार्थियों का रजिस्ट्रेशन नंबर डुप्लीकेट पाया गया है।

किसकी है गड़बड़ी, इसकी होगी जांच

कहीं फर्जी रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर विद्यार्थी परीक्षा में शामिल तो नहीं हो गए या परीक्षा विभाग में कर्मी की गड़बड़ी के कारण दो परीक्षार्थियों को एक ही रजिस्ट्रेशन नंबर आवंटित कर दिया गया। इसकी जांच की जा रही है।

पार्ट थ्री में भी हैं ऐसे मामले

स्नातक पार्ट थ्री के परिणाम में भी इस तरह की शिकायत मिली थी। एक ही रॉल नंबर तीन-तीन विद्यार्थियों को आवंटित कर दिया गया था। ऐसे में उन्हें रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर रिजल्ट देखने को कहा गया था।

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ.मनोज कुमार ने कहा कि डुप्लीकेट रजिस्ट्रेशन के कारण जिन विद्यार्थियों का रिजल्ट फंसा है। उनके कागजात को संबंधित विभाग में जांच के लिए दिया गया है। जांच के बाद इसमें से जो विद्यार्थी मूल होंगे उनका परिणाम प्रकाशित किया जाएगा।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस