मुजफ्फरपुर, जेएनएन। एलएस कॉलेज में नैक मूल्यांकन के लिए सभी विभागाध्यक्षों के साथ बैठक हुई। प्राचार्य डॉ. ओपी राय ने कहा कि पूर्व से भी कॉलेज को ए प्लस ग्रेड प्राप्त है। कोशिश है कि ए प्लस ग्रेड प्राप्त करें। सात बिंदुओं पर प्राध्यापकों को हिदायत दी गई। कोऑर्डिनेटर प्रो. एसके मुकुल ने सबसे अधिक माक्र्स शैक्षणिक उपलब्धि एवं गतिविधि पर निर्धारित होने की जानकारी दी तथा इस पर विशेष ध्यान देने को कहा।

मौके पर शैलेंद्र चौधरी, डॉ. गजेंद्र कुमार, डॉ. एसआर चतुर्वेदी, डॉ. गौरव पांडेय, डॉ. राजीव कुमार, डॉ. प्रवीण कुमार, डॉ. राजेंद्र कुमार, डॉ. पंकज कुमार, डॉ. सुरेंद्र राय, प्रो. त्रिपदा भारती, प्रो. रीमा आदि मौजूद थे।

नए कॉलेजों में नामांकन के लिए सरकार को प्रस्ताव

नए कॉलेजों में नामांकन की जानकारी बीआरए बिहार विश्वविद्यालय सरकार को प्रस्ताव बनाकर भेजेगा। मंजूरी मिलने के बाद ही इन कॉलेजों में नए सत्र में नामांकन होगा। एडमिशन होगा। 31 जनवरी को सीनेट की बैठक में विवि स्तर पर इसकी मंजूरी मिली थी। ये कॉलेज में मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, वैशाली, पूर्वी व पश्चिमी चंपारण शामिल हैं। इन कॉलेजों में नामांकन शुरू होने से करीब 10 से 12 हजार सीटें बढ़ सकती हैं। 2020-21 में इन कॉलेजों में कला, विज्ञान व कॉमर्स संकायों में एडमिशन होना है। इनमें 46 कॉलेज शामिल हैं।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस